12th पास साइंस छात्रों के लिए सरकारी नौकरी

Best Government Jobs After 12th Science in Hindi : 12वीं पास करने के बाद छात्रों के दिमाग में एक ही सवाल रहता है कि अब क्या करें कौन से क्षेत्र में अपना करियर बनाएं? हालांकि कुछ बच्चे प्राइवेट सेक्टर में अपना करियर बनाना चाहते हैं वहीं कुछ बच्चे सरकारी सेक्टर में अपना करियर बनाना चाहते हैं।

हर साल केंद्र सरकार और राज्य सरकार के अलग-अलग विभागों द्वारा कई सरकारी नौकरियों के लिए एग्जाम होते हैं जिनमें से कुछ एग्जाम 12वीं के बाद दे सकते हैं तो कुछ एग्जाम ग्रेजुएशन के बाद दे सकते हैं।

Best-Government-Jobs-After-12th-Science-in-Hindi-
Image : Best Government Jobs After 12th Science in Hindi

लेकिन जिन बच्चों ने 12th साइंस से पास किया है, उनके लिए सभी प्रकार के सरकारी नौकरियों का विकल्प रहता है। वे किसी भी नौकरी के लिए योग्य रहते हैं। यदि आपने भी 12वीं विज्ञान से किया है और आप सरकारी नौकरी में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें क्योंकि आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि 12वीं विज्ञान के बच्चे कौन-कौन से सरकारी नौकरियों की तैयारी कर सकते हैं।

12th पास साइंस छात्रों के लिए सरकारी नौकरी | Best Government Jobs After 12th Science in Hindi

सरकारी नौकरी क्यों करें?

आज Std-12 पास करने के बाद ज्यादातर बच्चे सरकारी नौकरी की तैयारी करने का निर्णय लेते हैं क्योंकि सरकारी नौकरी के कई सारे फायदे हैं। इसमें एक निश्चित वेतन मिलता है साथ ही कई प्रकार के सरकारी भत्ते भी मिलते हैं और अन्य प्रकार की सुविधाएं भी मिलती है।

वर्तमान में कुछ सालों से कोरोनावायरस के बाद लोगों को सरकारी नौकरियों के महत्व के बारे में ज्यादा पता चला है। क्योंकि ऐसे माहौल में प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले लोगों के नौकरियों को जाने का संभावना रहता है लेकिन सरकारी सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारी की नौकरी हमेशा सही सलामत रहती है। साथ ही नौकरी से रिटायरमेंट होने के बाद अच्छा रिटायरमेंट का पैसा भी मिलता है।

कई सारी सरकारी नौकरियों में रिटायरमेंट के बाद पेंशन भी मिलता है। इन सबके अतिरिक्त सरकारी नौकरियों की एक अलग प्रतिष्ठा रहती हैं। इसमें वेतन के अलावा पावर और सम्मान भी मिलता है। इसी के कारण ज्यादातर बच्चे यहां तक कि उनके माता-पिता भी अपने बच्चों को सरकारी नौकरी की तैयारी करवाना चाहते हैं।

12वीं विज्ञान के लिए सरकारी नौकरियों की सूची

जिन बच्चों ने विज्ञान स्ट्रीम से 12वीं एग्जाम दी है और उनका अच्छे परसेंटेज के साथ रिजल्ट आया है तो वे आगे सरकारी नौकरियों में अपना करियर बनाने की तैयारी कर सकते हैं। 12वीं विज्ञान के बाद कई सारी सरकारी नौकरियों की विकल्प है जिसकी अच्छी तैयारी करके आप उसमें अच्छे पोस्ट पर नौकरी पा सकते हैं साथ ही अच्छी सैलरी भी पा सकते हैं। 12वीं विज्ञान के बाद आप कुछ निम्नलिखित सरकारी नौकरियों के लिए की तैयारी कर सकते हैं।

  • कोस्टल गार्ड (जनरल ड्यूटी)
  • सिविल सर्विस का एग्जाम
  • आईबीपीएस पिओ
  • आईबीपीएस क्लर्क
  • पीसीएस
  • एसएससी सीजीएल
  • रेलवे एनटीपीसी

हालांकि इन सभी सरकारी नौकरियों में से कुछ नौकरियों के एग्जाम के लिए आवेदन आप स्नातक डिग्री लेने के बाद ही कर सकते हैं लेकिन यह सभी एग्जाम अलग-अलग सरकारी विभाग के उच्चतम पोस्ट के लिए होते हैं। इस एग्जाम की तैयारी विद्यार्थी 12वीं पास करने के बाद शुरू कर सकते हैं।

कोस्टल गार्ड (जनरल ड्यूटी)

इंडियन कोस्ट गार्ड के द्वारा विभिन्न लेवल के कोस्ट गार्ड के पदों में से एक जनरल ड्यूटी कोस्टल गार्ड के पद के भर्ती के लिए यह एग्जाम होता है। कोई भी उम्मीदवार जिस की न्यूनतम आयु 18 वर्ष है और उसने भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से बारहवीं कक्षा मैथ और फिजिक्स के साथ किया है वह इस एग्जाम को देने के लिए पात्र होता है। इस एग्जाम को देकर कोई भी उम्मीदवार भारत के नौसेना से जुड़ने का मौका पा सकता है।

बात करें इन कोस्ट गार्ड के वेतन की तो इंडियन कोस्ट गार्ड के सामान्य ड्यूटी के पद पर नियुक्त होने वाले उम्मीदवार की मूल वेतन ₹21700 होती है जिनमें महंगाई भत्ता और अन्य भत्ते भी शामिल होते हैं।

इंडियन कोस्ट गार्ड को उनके वेतन के अतिरिक्त कई प्रकार के लाभ दिए जाते हैं जैसे कि मुफ्त कपड़े और राशन ,परिवार सहित मुफ्त चिकित्सा ,नाम मात्र लाइसेंस शुल्क पर स्वयं और परिवार के लिए सरकारी आवास, हर साल 45 दिनों की छुट्टी, सेवानिवृत्ति के बाद पेंशन भी मिलता है।

सेवानिवृत्ति के बाद भी इन्हें ईसीएचएस चिकित्सा सुविधा मिलती है। इन्हीं सब आकर्षक लाभों के कारण लाखों उम्मीदवार इंडियन कोस्ट गार्ड एग्जाम के लिए आवेदन करते हैं नहीं।

बात करें एक कोस्टल गार्ड के कार्य की तो इन्हें समुद्री क्षेत्र में कृत्रिम द्वीपों, अपतटीय टर्मिनलों, प्रतिष्ठानों और अन्य संरचनाओं और उपकरणों की सुरक्षा और सुरक्षा सुनिश्चित करने का कार्य करना होता है। इसके अतिरिक्त ये संकट के समय में मछुआरों को सुरक्षा और सहायता प्रदान करते हैं। यें समुद्र प्रदूषण के रोकथाम और नियंत्रण सहित समुद्री पर्यावरण के संरक्षण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। अपने पद पर रहते हुए अन्य अधिकारियों की भी सहायता करते हैं।

जो उम्मीदवार कोस्टल गार्ड( सामान्य ड्यूटी) के रूप में चुना जाता है उसे 24 सप्ताह के लिए आईएनएस चिल्का में ट्रेनिंग दी जाती है उसके बाद 3 महीने की ट्रेनिंग के लिए प्रतिनियुक्त किया जाता है।

यह भी पढ़े : ऑनलाइन सरकारी या प्राइवेट जॉब कैसे ढूंढे?

Upsc ( सिविल सर्विस का एग्जाम )

यूपीएससी भारत का सबसे उच्चतम और प्रतिष्ठित परीक्षा है जो लेवल ए और लेवल लेवल बी के सिविल सेवा के 24 पदों के भर्तियों के लिए हर साल एग्जाम लेता है। जो भी उम्मीदवार भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम से स्नातक की डिग्री ली है और जिस की न्यूनतम आयु 21 वर्ष है तो वह यूपीएससी के एग्जाम के लिए पात्र होता है।

इच्छुक उम्मीदवार 12वीं परीक्षा पास करने के बाद इसकी तैयारी कर सकते हैं। यह परीक्षा भारत की सबसे कठिन मानी जाने वाली परीक्षा है जो तीन चरणों में होता है जिसमें प्रथम चरण की परीक्षा कंप्यूटर बेस्ड ऑब्जेक्टिव पेपर होता है। वंही दूसरे चरण में लिखित परीक्षा होती है। दूसरे चरण में पास होने वाले उम्मीदवार को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है।

जो उम्मीदवार साक्षात्कार में उत्तीर्ण हो जाता है उसे भारत के विभिन्न उच्चतम सिविल सर्विस के पद जैसे कि आईएएस, आईपीएस ,आईआरएस ,आईएफएस, आईएफओएस जैसे विभिन्न पदों पर नियुक्त किया जाता है। नियुक्ति से पहले इन्हें मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकैडमी ओफ एडमिनिस्ट्रेशन में 3 महीने की फाउंडेशन कोर्स के लिए भेजा जाता है।

बात करें यूपीएससी एग्जाम से नियुक्त उम्मीदवारों की सैलरी की तो इनकी अलग-अलग पदों पर अलग-अलग सैलरी होती है। इस तरीके से जो भी उम्मीदवार 12वीं विज्ञान के बाद एक अच्छी सरकारी जॉब की तैयारी करना चाहता है तो वह यूपीएससी की तैयारी कर सकता है एसएससी सीजीएल (Ssc cgl)

Ssc cgl

एसएससी सीजीएल कंबाइंड ग्रैजुएट लेवल का एग्जाम होता है । स्टाफ सिलेक्शन कमीशन द्वारा आयोजित की जाने वाली बहुत महत्वपूर्ण परीक्षा होती है। यह एग्जाम हर साल स्टाफ सिलेक्शन कमीशन भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालय, संगठन या विभागों में ग्रुप बी और ग्रुप सी के विभिन्न पदों की भर्ती के लिए उम्मीदवारों का चयन करता है।

जिस भी उम्मीदवार ने भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम से स्नातक की डिग्री पूरी की है और उसकी न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम 27 वर्ष है तो वह इस एग्जाम को दे सकता है। इस एग्जाम में उत्तीर्ण होने वाला उम्मीदवार आयकर, सीबीआई ,डाक, नारकोटिक्स उत्पाद शुल्क, एनआईए इत्यादि जैसे विभिन्न केंद्रीय सरकार के विभागों में एक इंस्पेक्टर, परीक्षक या सहायक जैसे महत्वपूर्ण पद पर नियुक्त किया जाता है।

बात करें इनकी सैलरी की तो अलग-अलग पदों के अनुसार अलग-अलग सैलरी होती है फिर भी एक न्यूनतम सैलरी 18,000 होती है और अधिकतम 2,50,000 तक होता है।

Ibps clerk

जो भी छात्र 12वीं विज्ञान के बाद सरकारी बैंक में काम करना चाहता है वह आईबीपीएस क्लर्क के एग्जाम के लिए तैयारी कर सकता है। आईबीपीएस हर साल विभिन्न भारत के सरकारी बैंकों के क्लर्क के पद की भर्ती के लिए एग्जाम को आयोजित करता है। जिसे कोई भी उम्मीदवार जिसने किसी भी स्ट्रिम से स्नातक की डिग्री भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से हासिल की है और उसकी आयु न्यूनतम 20 वर्ष और अधिकतम 25 वर्ष है वह इस एग्जाम को दे सकता है। एग्जाम को दो चरणों में लिया जाता है। पहला चरण कंप्यूटर बेस्ड ऑब्जेक्टिव पेपर होता है वंही दूसरे चरण में लिखित पेपर होता है।

जो भी उम्मीदवार इह एग्जाम को उत्तीर्ण करता है उसे भारत के किसी भी राज्य के सरकारी बैंक में क्लर्क के पद पर नियुक्त किया जाता है।उसे उस पद पर रहते हुए बैंक में पैसा जमा करना, पैसा निकालना, पासबुक पर एंट्री करना जैसे कामों को करना होता है। बात करें एक आईबीपीएस क्लर्क के वेतन की तो इनकी वेतन 28000 से 30000  के बीच प्रति माह होती है। ज्वाइनिंग के समय इनका मूल वेतन ₹19,900 होता है। ट्रेनिंग अवधि के बाद इन्हें वेतन के साथ कई प्रकार के भत्ते और लाभ मिलते हैं। हालांकि यह अलग-अलग बैंक के लिए अलग-अलग होता है।

Ibps po

आईबीपीएस के द्वारा भारत के विभिन्न सरकारी बैंकों में प्रोबेशनरी ऑफिसर के पद पर भर्ती के लिए यह एग्जाम हर साल होता है। एग्जाम तीन चरणों में होता है प्रीलिम्स ,मैंस और इंटरव्यू। प्रथम चरण कंप्यूटर बेस्ड ऑब्जेक्टिव पेपर वाला होता है वहीं दूसरा चरण लिखित होता है। उसके बाद उम्मीदवार को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

इस एग्जाम को देने के लिए उम्मीदवार के पास किसी भी स्ट्रीम से स्नातक की डिग्री पूरी होनी चाहिए और उसकी न्यूनतम आयु 21 वर्ष होनी चाहिए। बात करें प्रोबेशनरी ऑफिसर के कार्य की तो वे ग्राहकों की शिकायत को दूर करते हुए बैंक की सेवाओं के प्रति उन्हें संतुष्ट करते हैं। इसके अतिरिक्त वे क्लर्क स्टाफ के कामों पर निगरानी रखते हैं, बैंक की शाखा में नगद, ऋण और वित्त का प्रबंधन करते हैं।

इसके अतिरिक्त लोन से संबंधित डॉक्यूमेंट को जमा करना और उसकी जांच करने का भी काम करते हैं। बात करें एक प्रोबेशनरी ऑफिसर के वेतन की तो इनका बेसिक वेतन न्यूनतम 23700 होता है। बैंकिंग क्षेत्र में करियर बनाने का यह बहुत अच्छा विकल्प होता है। तो कोई भी उम्मीदवार जिसने 12वीं विज्ञान से किया है वह इसकी तैयारी कर सकता है

यह भी पढ़े : स्टूडेंट के लिए बेस्ट बिजनेस आइडियाज

Pcs

पीसीएस भी यूपीएससी की तरह लोक सेवा आयोग होता है लेकिन यह राज्य की लोक सेवा आयोग होती है जो राज्य के विभिन्न अधिकारियों की नियुक्ति करता है। इस परीक्षा में सफल होने वाला उम्मीदवार SDM, ARTO, DSP, BDO आदि प्रतिष्ठित पदों पर नियुक्त होता है। पीसीएस की परीक्षा देने के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 21 वर्ष होनी चाहिए और उसके उसके पास स्नातक की डिग्री होनी जरूरी है।

एक पीसीएस अधिकारी की नियुक्ति उसी राज्य में होता है जिस राज्य में उसने पीसीएस की एग्जाम दी है। पीसीएस ऑफीसर  राजस्व प्रशासन के संचालन और कानून व्यवस्था के रख-रखाव का कार्य करता है। इनकी न्यूनतम सैलरी 18,800 होती है वंही अधिकतम 2,18,200 होती है। 12वीं विज्ञान स्क्रीम से पास करने वाला छात्र जो अपने राज्य के प्रशासनिक अधिकारी बनना चाहता है वह इस एग्जाम की तैयारी कर सकता है।

Railway ntpc

भारतीय रेलवे विभाग आरआरबी के द्वारा रेलवे के विभिन्न पद जैसे कि स्टेशन मास्टर, स्टेशन मास्टर असिस्टेंट,जूनियर अकाउंट असिस्टेंट + टाइपिस्ट,  माल रक्षक, ट्रैफिक असिस्टेंट, सीनियर क्लर्क इत्यादि के भर्ती के लिए आरआरबी एनटीपीसी की परीक्षा आयोजित करता है। इसके कुछ पदों के लिए उम्मीदवार  बारहवीं कक्षा 50% के साथ पास करने के बाद परीक्षा के लिए आवेदन कर सकता है वहीं कुछ पद के लिए स्नातक की डिग्री होनी जरूरी है।

रेलवे एनटीपीसी की परीक्षा के लिए आयु न्यूनतम 18 वर्ष और अधिकतम 30 वर्ष होनी चाहिए। आरआरबी एनटीपीसी की एग्जाम तीन चरणों में होती है जिसमें से 2 चरणों की परीक्षा कंप्यूटर बेस्ड होती है वहीं तीसरे चरण में स्किल टेस्ट होता है। इस एग्जाम में चयनित होने वाले उम्मीदवार का न्यूनतम वेतन 19900 से 37400 विभिन्न पदों के अनुसार होता है।

FAQ

यूपीएससी के एग्जाम में क्या गणित विषय को ऑप्शनल में चुन सकते हैं ?

हां ,यूपीएससी के एग्जाम में ऑप्शनल विषय में गणित को चुन सकते हैं।

आईबीपीएस क्लर्क की तैयारी के लिए कौन-कौन से विषय को पढ़ना पड़ता है?

आईबीपीएस की तैयारी के लिए क्वांटिटी एप्टिट्यूड, रीजनिंग, इंग्लिश और जनरल अवेयरनेस जैसे विषय पढ़ने पड़ते हैं।

एसएससी सीजीएल का एग्जाम कितने नंबर का होता है?

एसएससी सीजीएल का एग्जाम कुल 700 अंकों का  होता है।

निष्कर्ष

हमें उम्मीद है कि इस लेख को पढ़ने के बाद जिस भी उम्मीदवार ने बारवी आर्ट्स स्ट्रीम से पास की है, उन्हें सरकारी नौकरियों में अपना करियर बनाने का एक शानदार असर के बारे में जानकारी मिल गई होगी। यदि आपने भी ट्वेल्थ आर्ट्स स्ट्रीम से पास किया है तो इनमें से किसी भी एक सरकारी नौकरी के एग्जाम के लिए तैयारी कर सकते हैं।

हमें उम्मीद है कि आज का लेख 12th पास साइंस छात्रों के लिए सरकारी नौकरी( Best Government Jobs After 12th Science in Hindi) आपको अच्छा लगा होगा। यदि लेख से संबंधित कोई भी समस्या हो तो आप कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं और लेख को आप अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर भी सांझा करें ताकि अन्य लोग जिन्होंने ट्वेल्थ आर्ट्स स्ट्रीम से पास किया है उन्हें भी सरकारी नौकरियों की सूची के बारे में जानकारी मिल सके।

यह भी पढ़े:

12th पास आर्ट्स छात्रों के लिए सरकारी नौकरी

बिना पैसे लगाए कौन सा बिजनेस शुरू करें?

स्टार्टअप क्या है और स्टार्टअप कैसे शुरू करें?

Leave a Comment