हार्डवेयर की दुकान कैसे खोले?

Hardware Business Plan in Hindi: हार्डवेयर का अगर आप व्यापार करने के बारे में सोच रहे है तो यह सबसे अच्छा ऑप्शन आपके पास है। क्योंकि आज हार्डवेयर के काम की मार्केट में बहुत ज्यादा डिमांड होती जा रही है। काम चाहे कंस्ट्रक्शन का हो, बिजली का हो, कृषि के उपकरण हो, घरेलू छोटे मोटे उपकरणों, इन सभी चीजों में हार्डवेयर के सामानों की जरूरत पड़ती है।

Hardware Business Plan in Hindi
Image: Hardware Business Plan in Hindi

वर्तमान समय में प्रधानमंत्री के द्वारा विभिन्न योजनाएं चल रही है, उनमें हर गांव में शौचालय, आवास का निर्माण हो रहा है। उन सभी के लिए भी हार्डवेयर की सामानों की बहुत जरूरत पड़ती है। इसके अलावा शहरों में भी आए दिन कुछ न कुछ काम चलते ही रहते हैं तो आइए आज हम आपको हार्डवेयर की दुकान किस प्रकार खोले, इसमें कितना निवेश लगता है, इसके क्या फायदे हैं, क्या नुकसान हैं, इन सभी के बारे में आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बताने जा रहे है।

यह भी पढ़े: 50+ पार्ट टाइम बिज़नेस आइडियाज

हार्डवेयर की दुकान कैसे खोले? | Hardware Business Plan in Hindi

Table of Contents

हार्डवेयर की दुकान

हार्डवेयर की दुकान के अंतर्गत कंस्ट्रक्शन, बिजली, किसान के उपकरण, घर से जुड़े हुए छोटे-मोटे उपकरण सभी हार्डवेयर की दुकान के अंतर्गत आते हैं। इस दुकान में हम पानी की टंकी, बिजली का सामान, पाइप, नट, बोल्ट, पेंट, टंकी के पाइप, नल की टोटी आदि सभी चीजों को अपनी दुकान में रखते हैं। सब सामानों के द्वारा ही एक हार्डवेयर की दुकान बनती है।

हार्डवेयर की दुकान खोलने के लिए बाजार का अनुभव

जब आप हार्डवेयर का व्यापार करने के लिए सोच रहे हैं तो उसके लिए आपको कोई डिग्री की आवश्यकता नहीं होती है। सिर्फ आपको हार्डवेयर के सामानों के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए। हार्डवेयर का सामान किस प्रकार से दुकान में रखा जाता है, कौन सा सामान, कहां से खरीदते हैं, इन सभी चीजों की जानकारी आपको किसी हार्डवेयर की दुकान पर देखकर और सीखकर ही आती है।

जब आप कोई भी व्यापार शुरू करते हैं तो उसको शुरू करने से पहले आपको उस व्यापार के बारे में पूरी जानकारी होना अत्यावश्यक है। अगर आपको जानकारी नहीं होगी तो आप व्यापार नहीं कर पाएंगे, इसमें बहुत ज्यादा नुकसान भी हो सकता है। इसके लिए बाजार में आप हार्डवेयर की दुकानों का निरीक्षण करके देखें और सीखें इसके अलावा आप ऑनलाइन भी इस काम को सीख सकते हैं।

हार्डवेयर की दुकान के लिए सामान कहां से खरीदे?

हार्डवेयर की दुकान के लिए सबसे बड़ी समस्या यह आती है कि उसके लिए कहां से सामान कम कीमतों में खरीदें, जिससे आपको ज्यादा मुनाफा हो सके। इसके लिए सबसे पहले हार्डवेयर के होलसेल की मार्केट में से आपको सामान को खरीदना होगा। आजकल ऑनलाइन भी ऐसी बहुत सी वेबसाइट है,जिन पर हार्डवेयर का सामान  कम कीमतों में उचित डिस्काउंट के द्वारा आसानी से मिल जाता है।

जब हार्डवेयर की दुकान खोलते है तो इसके सामानों के लिए सप्लायर भी आपको डायरेक्ट होलसेल मार्केट की कीमतों पर ही दुकान पर सामान दे देंगे। सप्लायर से कोटेशन मंगवा कर उसके हिसाब से आप समान खरीद सकते हैं। इसके अलावा जस्ट डायल, इंडियामार्ट पर भी अच्छे सप्लायर, डिस्ट्रीब्यूटर का पता कर सकते हो। उन सप्लायर के माध्यम से कम बजट में सही सामान आपको अपनी दुकान पर ही मिल जाएगा।

हार्डवेयर की दुकान के लिए जगह

हार्डवेयर का व्यापार करने के लिए जगह का होना सबसे महत्वपूर्ण होता है। हार्डवेयर की दुकान के लिए ऐसी जगह देखनी होगी, जहां पर भीड़भाड़ ज्यादा हो, लोग ज्यादा संख्या में रहते हो, ऐसी जगह पर अगर आप दुकान खोलोगे तो दुकान बहुत अच्छी चलेगी। हार्डवेयर की दुकान खोलने के लिए मार्केट में दुकान खोलना सही है, क्योंकि जब हम बाजार में दुकान को खोलते हैं तो किसी न किसी प्रकार से लोगों को हार्डवेयर के सामानों की जरूरत पड़ती है।

घर के आस पास अगर कोई हार्डवेयर की दुकान होती है तो उससे सभी को बहुत सुविधा हो जाती है। इसलिए थोड़ा रिहायशी इलाकों में, जहां पर लोग अधिक संख्या में रह रहे हो, वहां पर दुकान खोलोगे तो ज्यादा अच्छा होगा। दुकान के लिए जगह लेते समय इस चीज का विशेष ख्याल रखें कि आपको हार्डवेयर की दुकान के लिए जगह बहुत बड़ी लेनी होगी क्योंकि इसमें सामान बहुत अधिक होते हैं।

हार्डवेयर की दुकान खोलने के लिए बजट

हार्डवेयर की दुकान खोलने के लिए कम से कम 4 से 5 लाख की रकम लगाकर अपना व्यापार शुरू कर सकते है। इसके अलावा अगर खुद की दुकान खरीदना चाहते है या फिर रेंट पर लेना चाहते है तो उसका अलग से निवेश करना होता है। हार्डवेयर के सामान आदि के लिए तो लगभग 4-5 लाख रुपए की आवश्यकता पड़ती है।

अगर आप हार्डवेयर की दुकान में जितने ज्यादा प्रोडक्ट रखेंगे, उतने ही लोग आपकी दुकान में सामान लेने के लिए आएंगे। इससे दुकान की बिक्री बढ़ेगी और अच्छा मुनाफा भी होगा। उसी प्रकार से दुकान के समान को तथा काम को आगे और अधिक बढ़ा सकते हैं। बड़े लेवल पर काम शुरू करना चाहते है तो कम से कम 10 से 15 लाख रुपए आपको चाहिए। उसमें आपके हार्डवेयर की दुकान में सारे सामान आराम से आ जाएंगे।

हार्डवेयर का बजट और अन्य खर्चे

हार्डवेयर की दुकान के लिए जो बजट होता है, उसके अलावा भी बहुत खर्चे ऐसे होते हैं, जो उस बजट में नहीं होते हैं। उससे थोड़ा पैसा और लगाना पड़ता है। अन्य खर्चों में दुकान का किराया, दुकान की बिजली का खर्चा, आपकी दुकान के लिए जो स्टाफ रखा है, उसकी तनख्वाह, दुकान के लिए बोर्ड, दुकान में फर्नीचर की फिटिंग आदि अपने बजट के अलावा के खर्चे होते है।

जो व्यापार के लिए बजट निर्धारित किया है, वह सिर्फ सामान और दुकान खोलने के लिए होता है। लेकिन ये सब बाकी के अन्य खर्चे होते है। हार्डवेयर का व्यापार शुरू करते हैं तो इन खर्चों का 1 से 2 लाख अलग से ऊपर का बजट बनाना होता ही है।

यह भी पढ़े: कंप्यूटर और लैपटॉप रिपेयरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें?

हार्डवेयर की दुकान के लिए रजिस्ट्रेशन लाइसेंस

जब हार्डवेयर का व्यापार (Hardware Business) शुरू करने जा रहे है तो सबसे पहले दुकान का रजिस्ट्रेशन लाइसेंस बनवाना होगा। आजकल सरकार ने सभी व्यापार करने वालों के लिए यह अनिवार्य कर दिया है। हार्डवेयर के व्यापार के लिए सरकार से एक जीएसटी नंबर लेना होगा। उससे आपको सरकार के द्वारा एक ट्रेडमार्क मिल जाएगा, जिससे भविष्य में कोई भी कानूनी गतिविधियों का सामना नहीं करना पड़ेगा और व्यापार में भी पारदर्शिता बनी रहेगी।

दुकान का रजिस्ट्रेशन होना इसलिए ही बहुत जरूरी होता है। इसके अलावा आप अपनी दुकान खुद की है तो ठीक है, अगर नहीं है तो आप किराए की दुकान ले रहे हैं, उसका भी एग्रीमेंट करवा कर रखे। जिससे आपको हर साल से आपको बार-बार दुकान बदलने की जरूरत ना पड़े। यह सब कानूनी प्रक्रिया हार्डवेयर के व्यापार में जरूरी होती है।

हार्डवेयर की दुकान से मिलने वाला मुनाफा

हार्डवेयर का व्यापार करने के लिए दुकान को सही जगह पर खोलते है तो उससे उसकी लागत का पता चलता है। अब आपके व्यापार पर निर्भर करता है कि दुकान कहां पर खोल रहे है, ग्रामीण इलाकों में दुकान को खोला है, वहां पर महीने का मुनाफा 10 हजार से 30 हजार रूपये तक का हो सकता है।

अच्छे रिहायशी इलाकों में दुकान को खोला है तो वहां पर 50 हजार से 1-2 लाख रुपए तक या उससे अधिक मुनाफा कमा सकते है। यह सब आप की दुकान की सेल पर निर्भर करता है। आप किस तरह का समान अपनी दुकान में रखते हो कस्टमर को कैसे अटेंड करते है, कितना उन लोगों को डिस्काउंट देते है, दुकान की सेल के हिसाब से ही  मुनाफा मिलता है। वैसे दुकान में मुनाफा ग्रामीण और शहरी क्षेत्र के हिसाब से भी मिल सकता है क्योंकि दोनों जगह पर आप की सेल पर असर पड़ सकता है।

हार्डवेयर की दुकान के लिए स्टाफ की जरूरत

जब व्यापार को शुरू करते हैं तो उसमें आप अकेले काम नहीं कर सकते है। इसके लिए आपको दो या तीन लोगों की आवश्यकता जरूर पड़ती हैं, वो दुकान के सामानों की सभी जानकारी को रख सके। दुकान में कौन सा सामान कम हुआ है तथा इस सामान की ज्यादा मांग हो रही है।

सामान को पैक करने, कस्टमर तक पहुंचाने के लिए, कस्टमर को दिखाने आदि सभी के लिए दो-तीन लोगों की जरूरत पड़ती है। दो लोग तो आपको ऐसे रखने होते हैं, जिनको हार्डवेयर के काम का पूरा अनुभव क्योंकि इसमें बहुत छोटे-छोटे सामान होते हैं, जिनकी जानकारी होना बहुत जरूरी होता है। एक आपको मजदूर वर्ग का लड़का चाहिए जो बड़े बड़े सामान को उठाने में और पैकिंग में आपकी मदद कर सके।

हार्डवेयर के व्यापार के लिए गोडाउन

हार्डवेयर का व्यापार में अधिक जरूरी हार्डवेयर आइटम को रखने की जरूरत पड़ती है। इसके लिए एक गोडाउन जरूरी लेना होता है, जिसमें आप हार्डवेयर का सभी सामान उसमे रख सकते हैं। जैसे-जैसे सामान दुकान में कम होता जाता है तो गोडाउन में से सामान को दुकान में आसानी से ला सकते है।

हार्डवेयर के सामान (Hardware ka Saman) के लिए एक वाहन की भी जरूरत पड़ती है। होलसेल की मार्केट से हार्डवेयर की दुकान के लिए सामान लेने जाते हैं तो वाहन की जरूरत जरूर होती है। क्योंकि आप सामान बाइक पर या स्कूटर पर तो नहीं ला सकते है। इसको आप बड़े वाहन में ही लेकर आ सकते हैं।

हार्डवेयर की दुकान के द्वारा अन्य लोगों को रोजगार

हार्डवेयर की दुकान (Hardware ki Dukaan) को अच्छे से अच्छे तरीके से चलाने के लिए सबसे पहले आपको वहां पर काम कर रहे पेंटर, प्लंबर, मिस्त्री आदि से संपर्क करके उन सभी को अच्छे डिस्काउंट और कमीशन का लालच देकर दुकान की सेल और अधिक बढ़ा सकते हैं।

हार्डवेयर की दुकान में जो सामान है, वो अधिकतर इन्हीं लोगों के इस्तेमाल में आता है। इससे आपके काम पर और अच्छा प्रभाव पड़ेगा। इसके अलावा दुकान की शुरुआत में कीमतें अन्य दुकानों की तुलना में कम रखनी होंगी।

आज आप सभी जानते हैं कि मार्केट में कितना कंपटीशन हो गया है। उस कंपटीशन के चलते आपको यह देखना होगा कि जो अन्य हार्डवेयर की दुकान है, उस पर कितने लोग आ रहे हैं। उनसे आपको यह सीखना होगा कि आपकी दुकान में क्या कमी है, उस कमी को दूर करना होगा तभी आपकी दुकान अच्छी चल पाएगी।

हार्डवेयर के व्यापार की मार्केटिंग

डिस्ट्रीब्यूटर के रूप में

आप हार्डवेयर के काम की मार्केटिंग भी कर सकते हैं, अपने सामान को आप दूसरी दुकानों पर भी बेच सकते है तथा दुकानों पर जाकर आप अपने सामान को डिस्काउंट देकर या कम कीमतों में बेचकर अपनी सेल को बढ़ा सकते है। अपने हार्डवेयर के व्यापार में मार्केटिंग सबसे ज्यादा जरूरी होती है।

आपने हार्डवेयर की दुकान के साथ-साथ होलसेल वितरण का काम भी करना होगा, जिसके द्वारा आपको मार्केट में डिस्ट्रीब्यूटर की तरह सभी दुकानों पर अपने माल की सप्लाई का काम भी शुरू करना होगा। इससे आप को और अधिक मुनाफा प्राप्त हो सकता है।

ऑनलाइन के द्वारा

इसके अलावा आप ऑनलाइन भी अपनी खुद की वेबसाइट बनाकर, अपने सभी सामानों को ऐमेज़ॉन, फ्लिपकार्ड आदि वेबसाइटों के माध्यम से बेच सकते हैं। आजकल ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए बहुत कमाई हो रही है। इसमें अच्छा मुनाफा मिल जाता है तो वहां पर लोगों को डिस्काउंट अच्छा मिल जाता है। इसमें आपको ज्यादा मेहनत करने की भी जरूरत नहीं पड़ती है।

ऑनलाइन पेमेंट के द्वारा

आज के इस आधुनिक दौर में सब कुछ डिजिटल हो गया है तो आप अपनी दुकान पर ऑनलाइन पेमेंट का भी माध्यम रखें, जिससे ग्राहकों को परेशानी ना हो। क्योंकि किसी के पास पैसे होते नहीं है तो जो कस्टमर आता है अगर आपके दुकान में ऑनलाइन पेमेंट की व्यवस्था नहीं हुई तो वह ग्राहक वापस भी जा सकता है।

रिटेलर के रूप में

सबसे ज्यादा जरूरी और खास बात इसमें यह होती है कि दुकान को अच्छी तरह चलाना होता है। जो भी अन्य हार्डवेयर के दुकानदार होते हैं, वह एमआरपी रेट से ऊंची कीमतों पर अपनी दुकान के सामान को बेच देते हैं। आप कम से कम कीमत पर सामानो को बेच सकते है। दुकान में ग्राहकों के प्रति व्यवहार और हार्डवेयर के सामान की कीमतों को देखकर कस्टमर आपके पास में ज्यादा आएंगे।

क्या सरकार द्वारा लोन मिल सकता है?

आज भारत सरकार के द्वारा जो भी लोग बेरोजगार हैं, उन सभी को कामकाज के लिए मेक इन इंडिया की पहल को आगे बढ़ाने के लिए सरकार सभी बेरोजगारों को रोजगार के अवसर देने के लिए बैंक के द्वारा लोन दे रही है। इसमें आपके व्यापार का विवरण और कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों को जमा करवाना होगा।

आपके काम की जगह का बैंक के द्वारा निरीक्षण किया जाएगा, उसके बाद लोन की राशि आपके खाते में आ जाएगी। उससे अपना व्यापार शुरू कर सकते है अगर आपके पास व्यापार करने के लिए पैसे है तो खुद के पैसे से भी इस व्यापार को शुरू कर सकते है। अगर नहीं है तो सरकार के द्वारा लोन भी प्राप्त कर सकते है।

हार्डवेयर के व्यापार के लिए बीमा

जब कोई भी व्यापार शुरू करते हैं तो उसके लिए सरकार के द्वारा दुकान का तथा सामान का बीमा करवाया जाता हैं, जिनसे खुद के व्यापार को सुरक्षित कर सकते हैं। अब इसमें किसी प्रकार की कोई परेशानी दुर्घटना घटने पर एक क्लेम के रूप में  राशि सरकार के द्वारा दुकान के लिए मिलती है, उसी को बीमा राशि कहते हैं। जब भी कोई परेशानी और दुर्घटना होती है, उस स्थिति में बीमा कंपनी से जो राशि मिलती है।

आज बाजार में ऐसी बहुत सी बीमा कंपनियां है, जो व्यापार का बीमा करती हैं। सबसे पहले जिस कंपनी से बीमा करवा रहे हैं, यह देख ले कि किस कंपनी से आपको कितनी बीमा राशि की रकम मिलती है। उसके बाद ही आप सही कंपनी को चुनकर ही बीमा करवाएं।

हार्डवेयर के व्यापार में वृद्धि के लिए फ्रेंचाइजी

जब हार्डवेयर का व्यापार शुरू करते हैं तो स्टार्टिंग में थोड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। लेकिन जब दुकान की क्वालिटी और सेल अच्छी होगी तो आपकी दुकान और अच्छी चलेगी और व्यापार में बहुत वृद्धि होगी। व्यापार को बढ़ाने के बाद आप दुकान की फ्रेंचाइजी भी देना भी शुरू कर सकते है।

इससे और ज्यादा मुनाफा प्राप्त हो सकता है। क्योंकि जब एक बार मार्केट में दुकान की वैल्यू बढ़ेगी तो या तो खुद की और दूसरी हार्डवेयर की दुकान खोल सकते हैं, नहीं तो आप दूसरे लोगों को अपने दुकान के फ्रेंचाइजी देना शुरू कर सकते हैं।

FAQ

हार्डवेयर का व्यापार में कितने निवेश की आवश्यकता होती है?

शुरुआत कम से कम 5 से 7 लाख रूपये में कर सकते है।

हार्डवेयर के व्यापार के अंतर्गत कौन-कौन से सामान आते हैं?

बिजली के कुछ उपकरण, प्लंबर का सामान, मकानों के निर्माण में लगने वाले, पानी की टंकी, पेंट आदि।

क्या हार्डवेयर के सामान में नुकसान होने का डर होता है?

जी नहीं।

हार्डवेयर का अगर आप व्यापार करने की सोच रहे है तो इसके लिए आपको सरकार से लोन के रूप में राशि मिल सकती है?

जी हां, प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत सहायता राशि मिल सकती है।

हार्डवेयर की व्यापार के लिए ऑनलाइन के माध्यम से सामान बेचने में फायदा होता है?

जी हां, क्योंकि ऑनलाइन के माध्यम से हमको किसी को कुछ समझाने की जरूरत नहीं होती है। कस्टमर अपनी सुविधा के अनुसार सामान ले लेते हैं।

निष्कर्ष

जब भी एक नया व्यापार शुरू करते हैं तो उसमें बहुत नुकसान व फायदा दोनों ही चीजें होती है। यह सब काम व्यापार करने के तरीके के ऊपर निर्भर करता है। हार्डवेयर के सभी सामान लंबे समय तक चलने वाले होते हैं। एक्सपायर डेट का भी कोई झंझट नहीं होता है, इसीलिए हार्डवेयर का व्यापार करना आज के समय में कम लागत में अधिक मुनाफे वाला व्यापार है। इस व्यापार को बिना किसी डर के आप शुरू कर सकते है।

उम्मीद है आपको यह लेख बहुत पसंद आया होगा। इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको हार्डवेयर के व्यापार (Hardware Business Plan in Hindi) के बारे में संपूर्ण जानकारी इस लेख मे दी है। यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

यह भी पढ़े

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस कैसे शुरू करें?

किसी कंपनी की एजेंसी कैसे ले?

बेस्ट मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस आइडियाज

फ्लेक्स प्रिंटिंग बिजनेस कैसे शुरू करें?

Leave a Comment