कील बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

Wire Nails Manufacturing Business in Hindi: कंस्ट्रक्शन में छोटे बड़े कामों में कील का इस्तेमाल होते रहता है। घर, बिल्डिंग बनाने के अतिरिक्त कील का इस्तेमाल फर्निशिंग में काफी होता है। जनसंख्या वृद्धि के साथ भवन निर्माण साथ ही फर्निशिंग का काम काफी बड़े पैमाने पर हो रहा है जिसके कारण कील की डिमांड हमेशा ही मार्केट में बनी ही रहती है और आगे भी बनी ही रहेगी।

दूसरी बात है कि इसमें ब्रांड की कोई चिंता नहीं होती क्योंकि ग्राहक हार्डवेयर की दुकान में जब कील खरीदने जाता है तो वह कील के ब्रांड के बारे में नहीं पूछता। दुकानदार जो भी कील देता है वह खरीद लेता है। इस तरीके से कील बनाने का व्यवसाय शुरू करना एक बहुत अच्छा अवसर है इसमें ज्यादा मुनाफा कमाने का।

Wire-Nails-Manufacturing-Business-in-Hindi
Image : Wire Nails Manufacturing Business in Hindi

यदि आपके मन में भी कील बनाने के व्यवसाय शुरू करने का विचार आ रहा है तो आप बिल्कुल सही स्थान पर आए हैं क्योंकि आज के लेख में हम इन्हीं बातों पर चर्चा करेंगे कि किस तरीके से आप कील बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? , इसके लिए लगने वाली लागत और इसमें होने वाले फायदों के बारे में भी बात करेंगे। इसीलिए लेख को अंत तक पढ़े।

कील बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? | Wire Nails Manufacturing Business in Hindi

कील बनाने का बिजनेस क्या है?

आप सभी लोग कील से तो अच्छी तरीके से परिचित होंगे। बाजार में भिन्न-भिन्न तरह के कील मिलते हैं और कील की आवश्यकता बिल्डिंग बनाने में, फर्निशिंग में इत्यादि के छोटे-छोटे कामों में पडते ही रहते हैं। ऐसे में मशीनों की मदद से कील बनाकर उसे अलग-अलग  हार्डवेयर दुकानों पर बेचना ही कील बनाने का व्यवसाय है।

लेकिन इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए एक अच्छी योजना बनाने की जरूरत पड़ेगी क्योंकि इसमें कुछ मशीनें खरीदी पड़ती है, कच्चे माल की आवश्यकता होती है इत्यादि बहुत सारी बातें होती है जिसका ध्यान रखना पड़ता है।

कील बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

कील बनाने के व्यवसाय को शुरू करने के लिए निम्नलिखित चीजों की योजना बनानी होगी।

  • स्थान का चयन
  •  मशीन
  • कच्चे माल की खरीदी
  • मशीन कहां से लें
  • पैकेजिंग
  • लागत कितनी लगेगी
  • फायदा कितना होगा
  • लाइसेंस
  • कर्मचारी नियुक्ति
  • मार्केटिंग

कील बनाने का बिजनेस के लिए लोकेशन

कील बनाने के व्यवसाय को शुरू करने से पहले तो आपको एक ऐसी जगह का चयन करना पड़ेगा, जहां पर आप मशीनों को लगा सके और अपना व्यवसाय शुरू कर सकें। इस व्यवसाय के लिए स्थान के चयन के लिए निम्न चीजों का ध्यान रखें।

  • सबसे पहले उस क्षेत्र का सर्वे करें जहां पर आप व्यवसाय को शुरू करना चाहते हैं कि उस एरिया में कील बनाने की कितनी फैक्ट्री पहले से लगी हुई है।
  • फिर पता करें कि उस क्षेत्र में किस तरह की कील का ज्यादा डिमांड है।
  • कील बनाने के व्यवसाय के लिए आपको जमीन किसी भीड़भाड़ वाले इलाके में लेने की जरूरत नहीं है आप यह व्यवसाय कहीं भी शुरू कर सकते हैं बस वहां पर बिजली,पानी और कर्मचारी आसानी से उपलब्ध हो जाए।

कील बनाने का बिजनेस के लिए जगह का चयन

इस व्यवसाय के लिए कितनी जमीन की आवश्यकता पड़ेगी यह उद्यमी के व्यवसाय स्तर पर आधारित है यदी उद्योग छोटे स्तर से  शुरू करना चाहता है तो 400 से 900 स्क्वायर फीट जगह की जरूरत पड़ेगी क्योंकि  तीन तरह की मशीनें रखनी पड़ेगी और उसके लिए काफी जगह की आवश्यकता होगी साथ ही जनरेटर और एक ऑफिस भी स्थापित करना पड़ेगा। यदि आपकी खुद की जमीन है तो आपका खर्चा बच जाएगा लेकिन जमीन खुद की नहीं है तो आप जमीन लीज पर भी ले सकते हैं।

यह भी पढ़े : बिल्डिंग मटेरियल बिजनेस कैसे शुरू करें?

कील बनाने का बिजनेस के लिए मशीन

जब आप व्यवसाय के लिए स्थान का चयन कर लेते हैं तो अब बारी आती हैं कील बनाने की मशीन की खरीदी। कील बनाने के लिए तीन तरह के मशीनों की आवश्यकता होती है। पहली मशीन जो कील बनाता है दूसरी मशीन कील को पॉलिश करने के लिए और तीसरी ग्राइंडर।

कील बनाने वाली मशीनें बाजार में संख्या के अनुसार बेची जाती है उदाहरण के लिए यदि आप तीन नंबर का मशीन खरीदते हैं तो उस मशीन से आप आधी इंच से 3 इंच तक का कील बना सकते हैं वंही यदि आप 4 नंबर के मशीन खरीदते हैं तो उससे आधी से 4 इंच तक का कील बना सकते हैं।

कील बनाने का बिजनेस के लिए मशीन कहां से खरीदें

बात करें आप यह मशीनें कहां से खरीद सकते हैं तो यह मशीनें आपको दिल्ली, चंडीगढ़, गाजियाबाद, बरेली जैसी लगभग सभी शहरों में इस तरह की मैन्युफैक्चरिंग कंपनियां मिल जाती है आप वहां से यह मशीनें खरीद सकते हैं। साथ ही आप किसी डीलर से मिलकर भी संपर्क कर सकते हैं। जो आपको यह मशीनें दिला देगी। आप चाहे तो सीधे किसी फैक्ट्री से भी संपर्क कर सकते हैं।

हालांकि यदि आप डीलर से संपर्क करके मशीनें ना ले तो ही ठीक है क्योंकि डिलर कमिशन ज्यादा लेंगे और बहुत बार कुछ डीलर फ्रॉड भी निकल जाते हैं। इसके लिए आप सबसे पहले अच्छे से उनकी जांच पड़ताल करने के बाद ही किसी डीलर से संपर्क करें।

कील बनाने का बिजनेस के लिए रॉ मटेरियल

कच्चे माल के रूप में तार के बंडल की आवश्यकता होती है। बाजार में दो-तीन तरह के क्वालिटी का तार का बंडल बिकते हैं। इसके लिए आप सबसे पहले तो अपने क्षेत्र से पता लगाएं कि वहां पर कौन सी तरह की कील का ज्यादा डिमांड है और फिर उसी  के अनुसार तार का बंडल खरीदें। ये तारों का बंडल कीलो के अनुसार बेची जाती है जिसकी कीमत 30 से 40 रूपए पर कीलो होता है।

कील बनाने की प्रक्रिया

जैसे आप जानते हैं कि कील बनाने की मशीन स्वचालित होती है इसलिए आपको इसमें किसी भी तरह का मेहनत नहीं करना पड़ता बस आपको कील बनाने के लिए आवश्यक वायर को उस मशीन में एक ओर डालना पड़ता है और दूसरे ओर खुद ब खुद कील बन कर निकल आता है जिसके बाद आप उस कील को पॉलिशिंग मशीन में डालकर उसे पॉलिश कर सकते हैं।

कील बनाने का बिजनेस में पैकेजिंग

जूट के बोरे का इस्तेमाल कील की पैकेजिंग के लिए किया जाता है क्योंकि प्लास्टिक की थैली से कील पैकेजिंग करने से कील नुकीली होती है जिससे वह फट सकता है। इसीलिए आप अलग-अलग हार्डवेयर दुकानों में कितने कीलो कीर देना है उस हिसाब से आप अलग-अलग कीलो के हिसाब से पैकेट बना सकते हैं।

कील बनाने का बिजनेस के लिए स्टाफ

यदि आप कील बनाने का व्यवसाय को अच्छे तरीके से मैनेज करना चाहते हैं तो आपको इसमें कुशल कर्मचारियों को भी नियुक्त करने की जरूरत पड़ेगी जिनमें से कुछ कर्मचारी जो मशीनों को ऑपरेट करेंगे साथ ही कुछ कर्मचारी जो सामग्री को एक जगह से दूसरी जगह रखने में मदद करेंगे इसके अतिरिक्त आप ऑफिसियल काम के लिए भी कुछ शिक्षित और अनुभवी कर्मचारियों को नियुक्त कर सकते हैं।

कील बनाने का बिजनेस के लिए मार्केटिंग

इस बिज़नेस की मार्केटिंग करने के लिए आप अपने क्षेत्र के सभी होलसेलर से संपर्क कर सकते हैं साथ ही आपके क्षेत्र में मौजूद सभी छोटे बड़े हार्डवेयर की दुकान से भी संपर्क कर सकते हैं।

कील बनाने का बिजनेस के लिए लाइसेंस

आपको अपने कंपनी का रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा साथ ही जीएसटी नंबर के लिए भी रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा। इसके अतिरिक्त आप अपने क्षेत्र के लोकल अथॉरिटी से भी संपर्क करके आवश्यक लाइसेंस के बारे में जान सकते हैं।

इसके अतिरिक्त आप जानते होंगे कि सरकारी परियोजना के तहत भी बड़े पैमाने पर भवन निर्माण इत्यादि का कार्य होता है ऐसे में आप एमएसएमई सेक्टर के लिए आरक्षित खरीद योजना का लाभ ले सकते है जिसके लिए आपको उद्योग आधार और एमएसएमई डाटा बैंक के तहत अपने व्यवसाय को रजिस्टर कराना पड़ेगा । आप यह कार्य ऑनलाइन करवा सकते हैं।

यह भी पढ़े : सीमेंट डीलरशिप कैसे लें?

कील बनाने का बिजनेस के लिए लागत

कील बनाने का व्यवसाय शुरू करने में लगने वाली लागत की बात करें तो इसमें आपको जो मशीनें खरीदनी पड़ती है वह तीन से 5 लाख के बीच मिलती है सभी मशीनें अलग-अलग कीमत पर मिलती है। उसके बाद कच्चे माल का खर्चा। कील बनाने के लिए आवश्यक कच्चे माल की कीमत 30 से 40 रूपए पर कीलो होता है। इसके बाद बनाने का खर्चा ₹2 पर कीलो लगता है।

इस तरह बिजली कनेक्शन, कच्चा माल, लेबर का इंतजाम, मशीन, जमीन आदि सभी को मिलाकर 10 लाख तक का निवेश लग जाता है। हालांकि इस व्यवसाय में सबसे ज्यादा लागत मशीनों पर लगता है लेकिन इस पर आपको एक बार ही निवेश लगाना पड़ता है फिर लंबे समय तक रह व्यवसाय चलते रहेगा।

कील बनाने की व्यवसाय में आपको 10 से 12 लाख रुपए की लागत लगती है ऐसे में यदि आपके पास इतना निवेश है तो आप यह व्यवसाय शुरू कर सकते हैं लेकिन, यदि आपके पास इतनी निवेश की राशि नहीं है तो आप इस व्यवसाय को पार्टनरशिप में भी शुरू कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप चाहे तो बैंक से लोन के लिए भी आवेदन कर सकते हैं। कई बैंक बिजनेस लोन देती है हालांकि इसमें आपको कई सारे प्रक्रिया से गुजरने पड़ेंगे।

कील बनाने का बिजनेस में लाभ

इस व्यवसाय का पहला फायदा तो यह है कि यह व्यवसाय लंबे समय तक चलने वाला व्यवसाय है। बात करे इस व्यवसाय से होने वाली कमाई की तो इस व्याख्या को शुरू करने के लिए आप जो मशीनें खरीदते हैं वह मशीन 1 मिनट में 300 कील बनाती है मतलब 8 घंटे में आप 600 कीलो कील बना सकते हैं। कील बनाने में उपयोगी कच्चे माल के लिए 35 रूपए एक कीलो पर खर्चा आता है।

साथ ही बनाने का खर्चा ₹2 लगता है इस तरह एक कीलो कील बनाने में 37 रूपए का खर्चा आता है लेकिन वही एक कीलो कील को आप होलसेल कीमत पर 42 रुपए में बेच सकते हैं। इस तरीके से आप 1 कीलो पर 5 से 6 रूपए का फायदा कमा सकते हैं। इस तरह आप जोड़ सकते हैं कि यदि हर दिन आप 600 कीलो कील भी बनाते हैं तो 3000 की कमाई आपकी हो जाती है इस तरह महीने का 80 से 90 हजार की कमाई आप कर सकते हैं।

FAQ

कील बनाने के व्यवसाय को शुरू करने के लिए कितना निवेश लगेगा?

कील बनाने के व्यवसाय में खरीदी गई मशीनें, बिजली कच्चे माल, जमीन इत्यादि का खर्चा मिलाकर कुल 10 से 12 लाख की लागत आती है।

कील बनाने के लिए कौन से मशीनों की आवश्यकता होती है?

कील बनाने के लिए तीन तरह की मशीनों की आवश्यकता होती है जिसमें पहला कील बनाने की मशीन होती है। दूसरा कील को पॉलिश करने की मशीन होती है और तीसरा ग्राइंडर होता है।

कील के व्यवसाय से कितना फायदा कमाया जा सकता है?

आप यह व्यवसाय निम्न स्तर से करते हैं तो आप महीने के 80 से 90 हजार कमा सकते हैं।

कील के लिए कच्चे माल कौन से हैं?

कील बनाने के लिए आवश्यक कच्चा माल वायर होता है।

कील बनाने की मशीनों से एक बार में कितना कीलो बना सकते हैं?

कील बनाने की मशीने 1 मिनट में 300 कील बना सकती हैं

निष्कर्ष

कील बनाने का व्यवसाय आप शुरुआत में छोटे लेवल से शुरू करके काफी ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं। साथ ही आप इसको बड़े लेवल तक ले जा सकते हैं। इसमें मुनाफे का कोई सिमा नहीं है। इस तरीके से एक बार निवेश के साथ लंबे समय तक चलने वाला और ज्यादा मुनाफे वाला व्यवसाय है।

हमें उम्मीद है कि इस लेख से आपको समझ में आ गया होगा कि किस तरीके से आप कील बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? (Wire Nails Manufacturing Business in Hindi)। यदि लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरूर शेयर करें साथ ही लेख से संबंधित कोई भी प्रश्न आपके मन में हो तो आप कमेंट सेक्शन में लिख सकते हैं।

यह भी पढ़े

आटा चक्की का बिजनेस कैसे शुरू करें?

पेंट का बिजनेस कैसे करें?

वेयरहाउस बिजनेस कैसे शुरू करें?

Leave a Comment