MRF Tyres फ्रेंचाइजी कैसे ले?

 MRF Tyres Franchise In Hindi : वर्तमान समय में  किसी भी बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको इसकी पूरी जानकारी होना आवश्यक होता है। साथ ही साथ उससे संबंधित उत्पादन उसकी लागत खपत और  बिक्री से संबंधित  सभी प्रकार की आवश्यक जानकारी जुटाने  की आवश्यकता होती है। नया बिजनेस शुरू करने के अपने रिस्क होते हैं। 

इस कारण से अगर आप किसी पहले से ही इस्टैबलिश्ड ब्रांड की डीलरशिप लेकर बिजनेस चालू करते हैं। तो आप  इन सभी प्रकार की छोटी-मोटी समस्याओं से बच सकते हैं। वह सुरक्षित निवेश की ओर अपना कदम बढ़ा सकते हैं, इन्हीं में से एक है एमआरएफ टायर की डीलरशिप  प्राप्त करना।

MRF-Tyres-Franchise-In-Hindi-
Image : MRF Tyres Franchise In Hindi

एमआरएफ टायर की डीलरशिप प्राप्त करके आप एक सुरक्षित निवेश की ओर अपना पहला कदम बढ़ा देते हैं। एमआरएफ एक अंतरराष्ट्रीय ब्रांड है और इसका अंतर्राष्ट्रीय बाजार भी है, जो कई वर्षों से  इस  बिजनेस से जुड़े लोगों को लाभ ही लाभ दे रहा है।

आज हम इस आर्टिकल में आपको MRF Tyres फ्रेंचाइजी कैसे ले? के बारे में आपको माहिति प्रदान करेंगे, तो इस आर्टिकल के अंत तक आप बने रहे।

MRF Tyres फ्रेंचाइजी कैसे ले? |  MRF Tyres Franchise In Hindi

MRF Tyres फ्रेंचाइजी व्यवसाय की शुरुआत कैसे करें?

एमआरएफ  टायर बिजनेस  को शुरू करने के लिए आपको इसकी फ्रेंचाइजी की आवश्यकता पड़ेगी।  एमआरएफ टायर कंपनी से जुड़ने के लिए आप इसके द्वारा आमंत्रित  फ्रेंचाइजी डीलरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करते समय आपको  कुछ जरूरी कागजातों दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी। 

जैसे कि आप का पहचान पत्र के रूप में आधार कार्ड,  बैंक डिटेल,  जीएसटी नंबर,  जिस जगह पर आप अपना शोरूम इस्टैबलिश्ड करना चाहते हैं उससे संबंधित कागजात। वह अगर इसके लिए किसी प्रकार के प्रशासनिक सरकारी अनुमति की आवश्यकता होती है, तो संबंधित विभाग से भी आपको मंजूरी लेनी पड़ेगी। 

इन सबके साथ एमआरएफ टायर की  फ्रेंचाइजी लेने के लिए एमआरएफ टायर कंपनी की ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।आवेदन करने के पश्चात कंपनी की तरफ से आपके द्वारा प्रस्तुत की गई समस्त जानकारी दस्तावेजों की जांच के पश्चात आप को इसकी डीलरशिप प्रदान कर दी जाती है।

MRF Tyres फ्रेंचाइजी के प्रकार

 अगर आप एम आर एफ टायर कंपनी से जुड़ना चाहते हैं, एमआरएफ टायर कंपनी अपनी डीलरशिप तीन प्रकार से आवंटित करती है। जिसके लिए आप आवेदन करके इसके लिए आवश्यक शर्तें और नियमों का पालन करते हुए इसे प्राप्त कर सकते हैं। इन तीनों प्रकार के संबंधित सारी जानकारी आपको इस आर्टिकल में प्रदान की जा रही है, जिसको प्राप्त करके आप इस बहुराष्ट्रीय कंपनी से जुड़कर लाभ कमा सकते हैं। 

 आप तीन प्रकार से एमआरएफ कंपनी के साथ जुड़ सकते हैं और अपना व्यवसाय चालू कर सकते हैं।

  1. आप  रिटेल पार्टनर के रूप में एमआरएफ कंपनी से जुड़कर अपना बिजनेस चालू कर सकते हैं। इसके लिए आपके पास अपनी दुकान पहले से ही होनी चाहिए।  जिससे कि आप कंपनी सीधा माल लेकर अपनी दुकान के माध्यम से  कस्टमर को  बेचकर लाभ कमा सकें। इसमें आपको एक फायदा यह मिलेगा कि आपके अगर पहले से दुकान है तो आपको अतिरिक्त निवेश करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।
  2. अगर आपकी मंशा बड़ा शोरूम खोलकर बिजनेस चलाने की है तो इसके लिए आपको डीलरशिप लेनी पड़ेगी। एमआरएफ टायर की डीलरशिप लेकर अपना शोरूम खोल सकते हैं।और इसके माध्यम से टायर की सप्लाई अपने कस्टमर को कर सकते हैं। इसके लिए आपको निवेश की आवश्यकता पड़ेगी।  जो शोरूम  इंफ्रा के निर्माण  के रूप में जो खर्च  आएगा।  एमआरएफ टायर डीलरशिप लेने के लिए आपको 1000000 रुपए तक की आवश्यकता पड़ेगी।
  3. एमआरएफ टायर की डिस्ट्रीब्यूटरशिप प्राप्त करने के लिए आपको कंपनी द्वारा निर्धारित शर्तों का पालन करते हुए आवेदन करना होता है। एक बार अगर आप एमआरएफ टायर की डिस्ट्रीब्यूटरशिप ले लेते है। उसके पश्चात आप उस क्षेत्र में जितने भी रिटेल एमआरएफ टायर विक्रेता है। उन सभी को एमआरएफ टायर की सप्लाई करनी होती है इस प्रकार भी आप मोटा मुनाफा कमा सकते हैं।  इसके लिए कंपनी द्वारा आपको अधिकृत किया जाता है । कि संबंधित क्षेत्र में आप ही सभी रिटेलर उपभोक्ताओं को कंपनी से संबंधित टायर की  आपूर्ति करेंगे।

MRF Tyres फ्रेंचाइजी बिजनेस के लिए मार्केट रिसर्च

एमआरएफ टायर अपने आप में एक ऐसा ब्रांड है, जिसके लिए आपको किसी प्रकार की कुछ खास बाजार अनुसंधान करने की आवश्यकता नहीं है। फिर भी भारत जैसे विकासशील देशों में गाड़ियों की  संख्या को देखते हुए। वह आने वाले समय में वाहनों की मांग को ध्यान में रखकर अगर आप इस बिजनेस में निवेश करने की सोच रहे हैं।

तो आप इस बात को समझ पाएंगे इतनी अधिक वाहनों की संख्या वह उन में  इस्तेमाल होने वाले टायरों कि बाजार में कितने डिमांड होगी। आने वाले समय में वाहनों की मांग के साथ ही साथ टायरों की मांग बढ़ना लाजमी है। उसने भी अगर आप एमआरएफ कंपनी से जुड़कर कार्य करते हैं , तो आपकी लाभ की संभावनाएं बढ़ जाती है क्योंकि एमआरएफ टायर पहले से ही है। एमआरएफ टायर की अपनी एक अलग है  ब्रांड वैल्यू है।

यह भी पढ़े :Castrol Oil डिस्ट्रीब्यूटरशिप कैसे ले?

MRF Tyres फ्रेंचाइजी बिजनेस के लिए कच्चा माल

एमआरएफ टायर डीलरशिप लेने के लिए या इस बिजनेस में किसी प्रकार के कच्चे माल की आवश्यकता नहीं होती। आपको कंपनी द्वारा ही तैयार एमआरएफ के टायर ओं का विक्रय करना होता है। वह इसके बदले में आपको कमीशन दिया जाता है।  एक बात ध्यान देने योग्य है कि टायर बेचने के लिए आपको एक जगह की आवश्यकता होगी। जो शोरूम  या रिटेल शॉप हो सकती है।

इसके लिए कुछ निवेश की आवश्यकता जरूर आपको पड़ेगी। यह निवेश आपके द्वारा  ली जा रही फ्रेंचाइजी पर निर्भर करेगा कि आप रिटेल शॉप खोलना चाहते हैं।  डिस्ट्रीब्यूटरशिप लेना चाहते हैं,  या डीलरशिप लेना चाहते हैं इन सभी केस में आपको अलग-अलग निवेश की आवश्यकता होगी।  सामान्य रूप से यह कह सकते हैं कि इस बिजनेस की शुरुआत करने के लिए आपको  20 से 30 लाख रुपए की आवश्यकता होगी।

MRF Tyres फ्रेंचाइजी बिजनेस के लिए मशीन व उपकरण 

इस बिजनेस में आपको कोई खास मशीन या उपकरण की आवश्यकता तो नहीं पड़ती है लेकिन पुराने टायरों की सर्विसिंग के लिए कुछ मशीनी उपकरणों की आवश्यकता पड़ती हैं, जिस संदर्भ में कंपनी आपको जानकारी उपलब्ध करा देगी। 

टायरों की जांच उनकी क्वालिटी गुणवत्ता संबंधित जानकारी के लिए कुछ मशीनें उपकरण आपको कंपनी द्वारा प्रदान किए जाएंगे।  इसके अलावा इस बिजनेस मशीनों और उपकरणों की आवश्यकता नहीं होती है क्योंकि कंपनी द्वारा टायर तैयार रूप में उपलब्ध कराए जाते हैं। आपको सिर्फ उनकी बिक्री करनी होती है और उससे संबंधित कोई कंप्लेंट आने पर उसका फीडबैक कंपनी को उपलब्ध कराना होता है।

वैसे आप  इसमें कुछ लागत  खर्च इत्यादि जो इस बिजनेस को शुरू करने के लिए अगर आप रिटेल शॉप शोरूम या कोई गोदाम लेते हैं।  तो वहां पर इंफ्रा निर्माण के लिए आपको जो संबंधित सामग्री या चीजों की आवश्यकता होगी वह  8 से 10 लाख रुपए की कीमत की होगी।

MRF Tyres फ्रेंचाइजी की विधि

आपको एमआरएफ टायर बनाने की कोई आवश्यकता नहीं होगी। आप साधारण रूप में एमआरएफ टायर की डीलरशिप लेकर कंपनी द्वारा तैयार किए गए  टायरों का विक्रय कर सीधे लाभ कमा सकते हैं।  इसके लिए आपको कंपनी द्वारा प्रदान की जा रही विभिन्न प्रकार की डीलरशिप में से किसी एक के रूप में आपको कंपनी के साथ जुड़ना होगा।

उसके बाद से आप एक निश्चित कमीशन प्राप्त करते हुए कंपनी द्वारा निर्मित टायरों की बिक्री कर सकते हैं। आपके लाभ की मात्रा आपके द्वारा बेचे जा रहे हैं प्रोडक्ट की मात्रा पर निर्भर करेगी।  इस प्रकार से हम कह सकते हैं कि अगर आप कोई और बिजनेस शुरू करते हैं, तो उसके लिए आपको उसके निर्माण से लेकर  विक्रय तक की पूरी प्रक्रिया पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

साथ ही साथ आपको उसको बनाने की विधि वह से संबंधित उपकरणों पर भी निवेश करने की आवश्यकता पड़ती है।  पर इस बिजनेस में आप उन सभी चीजों से बच जाते हैं। वह सीधे लाभ की ओर अग्रसर हो जाते हैं।

MRF Tyres फ्रेंचाइजी बिजनेस के लिए स्थान का प्रबंध

एमआरएफ टायर डीलरशिप लेने के  वक्त आपको इसके सेलिंग प्वाइंट के रूप में जगह का चुनाव करना होता है, जो रिटेल शॉप के रूप में  भी हो सकती है।इसके लिए लोकेशन का चुनाव करते समय आपको कई बातों का ध्यान रखना पड़ता है। जो लोकेशन आप सुन रहे हैं हो इसके लिए आदर्शों अनुकूल हो ताकि आप ज्यादा से ज्यादा लाभ कमा सके।

अगर आप रिटेल शॉप खोलना चाहते हैं तो वह पेट्रोल पंप के नजदीक भी हो सकती है। ग्रामीण तथा शहरी दोनों क्षेत्रों में आप इसे  खोएमआरएफ टायर डीलरशिप लेने के लिए आपको कम से कम 3500 से 4500 स्क्वायर फीट जगह  की आवश्यकता होगी।  ताकि आप अपने ग्राहकों को समुचित व्यवस्था प्रदान कर सके।  इसमें ऑफिस , पार्किंग  स्टॉक रखने की जगह,  स्टाफ को डिस्प्ले करने की जगह इत्यादि शामिल है।

MRF Tyres फ्रेंचाइजी बिजनेस के लिए लाइसेंस व पंजीकरण

एमआरएफ टायर की फ्रेंचाइजी लेने के लिए आवश्यक लाइसेंस पंजीकरण इससे संबंधित जानकारी आपको इस आर्टिकल में प्रदान की जा रही है। एमआरएफ टायर की फ्रेंचाइजी लेने के लिए आपको गवर्नमेंट द्वारा निर्धारित शर्तों के पालन के साथ ही साथ इससे जुड़े लाइसेंस और पंजीकरण की भी आवश्यकता पड़ती है।

कुछ मामलों में आपको  स्थानीय निकायों से परमिशन की आवश्यकता पड़ती है। जिस एरिया में आप अपना शोरूम या  रिटेल शॉप खोलना चाहते हैं।  उस एरिया से संबंधित स्थानीय अधिकारियों से आपको इस संबंध में जानकारी प्राप्त हो जाएगी।

MRF Tyres फ्रेंचाइजी बिजनेस के लिए स्टाफ

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको अधिक स्टाफ की आवश्यकता नहीं पड़ती है। आपके स्टाफ की संख्या आपके द्वारा शुरू किए जा रहे हैं रिटेल स्टोर या शोरूम के आधार पर तय होती है। अगर आप इसके लिए शोरूम खोलते हैं तो आपको अधिक स्टाफ की आवश्यकता होगी। रिटेल शॉप के लिए आपको ज्यादा स्टाफ की आवश्यकता नहीं पड़ती है। 

फिर भी अगर आप शोरूम का संचालन करते हैं तो आपको मैनेजर के  के शेयर और अन्य सामान्य कर्मचारियों के रूप में 8 से 10 लोगों के स्टाफ की आवश्यकता पड़ेगी।  जिससे कि आप अपने बिजनेस का संचालन बिना परेशानी रुकावट के कर सकेंगे।

स्टाफ की संख्या काफी हद तक आप पर निर्भर करती है कि आप कितना स्टाफ रखना चाहते हैं।  या को कितने स्टाफ की आवश्यकता है बिजनेस के  प्रचार  के साथ स्टाफ की संख्या बढ़ाई जा सकती है।  और घटाई जा सकती है।

MRF Tyres फ्रेंचाइजी बिजनेस के लिए पैकेजिंग

वैसे तो एमआरएफ टायर की बिजनेस में आपको किसी प्रकार की पैकिंग की आवश्यकता नहीं पड़ती है क्योंकि यह कंपनी द्वारा ही आपको सीधे प्रोवाइड कराया जाता है। आपका काम सिर्फ इसे  बेचने का होता है। आप समझ सकते हैं कि इससे आपके पैकेजिंग  से संबंधित लागत वह पैकेजिंग में लगने वाली लेबर कॉस्ट से भी बन जाती है, जिससे कि आप के लाभ में बढ़ोतरी हो जाती है।

आमतौर पर सभी बिजनेस में पैकेजिंग की कॉस्ट लगती ही है,  तो आप इसको अपने बिजनेस के लिए अच्छा मानकर इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं।   अगर आपके बिजनेस पैकेजिंग की आवश्यकता पड़ती तो इसके लिए भी आपको दो से तीन लेबर की आवश्यकता पड़ती है। आप इस प्रकार के सभी संभावित खर्चों में  लेबर से बच  जाते हैं। छोटी छोटी चीजों से आपके प्रॉफिट मार्जिन में इजाफा होता है जो कि आपके बिजनेस के विस्तार और बढ़ोतरी में आवश्यक होता है।

यह भी पढ़े : Shell पेट्रोल पंप डीलरशिप कैसे ले?

MRF Tyres फ्रेंचाइजी बिजनेस में कुल लागत

शुरुआती दौर में आपको इसकी फ्रेंचाइजी लेने वह इस बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए 20 से  30 लाख रुपए की आवश्यकता पड़ेगी। इसमें आपके फ्रेंचाइजी लेने संबंधित खर्चे या फिर रिटेल स्टोर या जहां पर भी आप  इस बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं। उससे संबंधित उपकरणों मशीन  इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण के लिए  आपको इतनी पूंजी की आवश्यकता पड़ेगी,  जोकि सामान्य रूप से आपको अधिक लग सकती हैं।

लेकिन अगर आप इसको एमआरएफ टायर की फ्रेंचाइजी के रूप में देखें तो यह निवेश आपको बहुत ही कम लगेगा। एमआरएफ टायर का अपना बिजनेस एक अपनी ब्रांड वैल्यू होने के कारण इसके साथ छोड़ कर आप शुरुआत से ही लाभ कमा सकते हैं, जिस कारण से इस  निवेश की रिकवरी आप जल्दी कर पाएंगे।  शुरुआती दौर में ही बस आपको इतने निवेश की आवश्यकता पड़ती है। एक बार बिजनेस शुरू करने के पश्चात आपको इसके संचालन में ज्यादा निवेश और पैसों की आवश्यकता नहीं पड़ती है। 

MRF Tyres फ्रेंचाइजी बिजनेस में मुनाफा

इस बिजनेस में आपको बिजनेस मार्जिन के रूप में यह कह लीजिए कि प्रॉफिट मार्जिन के रूप में 6 से 11 परसेंट का होता है, जो कि आपके द्वारा की  गए सेल के ऊपर निर्भर करता है। एमआरएफ टायर कंपनी  का अपना एक वैश्विक बाजार है व  इस कंपनी से जुड़कर आप इस बाजार का सहज लाभ ले सकते हैं।एमआरएफ टायर कंपनी भारत की नंबर वन टायर कंपनी है, जो कि पूरे भारत में   टायरों का उत्पादन एवं विक्रय करते हैं। 

इसके साथ ही कंपनी इसके लिए बड़े पैमाने पर प्रचार भी करती हैं। कंपनी की ब्रांड को देखे तो किसी भी प्रकार से इस कंपनी से जुड़ने पर आपको किसी प्रकार की हानि की संभावना नहीं है। बशर्ते आप नियम व शर्तों का पालन करते हुए अपने व्यवसाय का संचालन करें और अधिक से अधिक लाभ कमाएं।

एमआरएफ टायर कंपनी से जुड़कर आप  महीने का 4 से  6 लाख रुपए का मुनाफा कमा सकते हैं,  जो किसी भी बिजनेस के लिए मुनाफे की दृष्टि से कम नहीं है।  इस मुनाफे को आप अपने लगन वह मेहनत से आगे और भी बढ़ा सकते हैं । यह आप की कार्य क्षमता पर निर्भर करता है।

MRF Tyres फ्रेंचाइजी बिजनेस के लिए मार्केटिंग

एमआरएफ टायर की मार्केटिंग कंपनी के द्वारा ही काफी बड़े पैमाने पर की जाती है।  वह इसके लिए कंपनी को आपकी तरफ से कोई चार्ज नहीं देना पड़ता है।  इस कारण से आप मार्केटिंग संबंधित खर्चा व इसमें लगने वाली मेहनत से बच सकते हैं। एमआरएफ टायर भारत में एक स्थापित ब्रांड है जिसको अधिक मार्केटिंग की आवश्यकता नहीं है। 

एक प्रकार से आप इसको भारत का नंबर वन टायर ब्रांड  कह  सकते हैं। अगर आप एमआरएफ टायर कंपनी की फ्रेंचाइजी लेते हैं।  तो आपको यह लाभ सहज ही प्राप्त हो जाएगा मार्केटिंग व इससे संबंधित कार्यों में भी कई बिजनेस में बहुत खर्चा करना पड़ता है,  जो निश्चित तौर पर आपके मुनाफे को कम करेगा ही ।  तो इस प्रकार से आपका  लाभ बढ़ जाता है।

MRF Tyres फ्रेंचाइजी बिजनेस में रिस्क

इस बिजनेस को शुरू करने में किसी प्रकार का कोई रिस्क नहीं है,अगर आप कंपनी द्वारा निर्धारित शर्तों और नियमों  का पालन करते हुए इस बिजनेस का संचालन करते हैं।  इस बिजनेस से संबंधित सरकार द्वारा निर्धारित आवश्यक लाइसेंस या पंजीकरण, इसी विभाग की मंजूरी जो इस प्रकार के बिजनेस  के संचालन के लिए आवश्यक होती है।

इस प्रकार की सभी कागजी कार्रवाई पूर्ण करते हुए आप बिजनेस का संचालन करते हैं।  तो आपको इस बिजनेस में किसी प्रकार का कोई जोखिम नहीं है।  और इस बिजनेस से आप एक अच्छा मुनाफा कमा सकता है।

FAQ

एमआरएफ टायर की फ्रेंचाइजी लेने के लिए व इस बिजनेस को शुरू करने के लिए कितने निवेश की आवश्यकता पड़ेगी?

एमआरएफ टायर की फ्रेंचाइजी लेने के लिए व  इस बिजनेस को शुरू करने के लिए 20 से  30  लाख रुपए की आवश्यकता पड़ेगी।

क्या इस बिजनेस को शुरू करने में किसी प्रकार का कोई  जोखिम है?

जी नहीं, इस बिजनेस को शुरू करने में किसी प्रकार का कोई जोखिम नहीं है।

क्या  इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए किसी प्रकार  के पंजीकरण की आवश्यकता पड़ती है?

हां, आपको इसके लिए सरकार द्वारा निर्धारित विभाग  ने पंजीकरण कराना होता है।

निष्कर्ष

 निसंदेह इस प्रकार के बिजनेस में शुरुआती दौर में आपको अधिक निवेश की आवश्यकता पड़ेगी।  लेकिन जब आप इसका एक बार संचालन चालू कर देते हैं।  तो इस बिजनेस से आप निरंतर लाभ कमा सकते हैं क्योंकि हमारे टायर कंपनी भारत के प्रतिष्ठित एवं विश्वसनीय ब्रांड जो कि आपको लंबे समय तक मुनाफा कमा कर देगी।

जिसके लिए शुरुआती रूप में आपके द्वारा किया गया निवेश तुलनात्मक रूप से काफी कम है। इस प्रकार के बिजनेस में आप फ्रेंचाइजी लेकर पहले से ही स्थापित किसी बिजनेस का एक निश्चित  मार्जिन प्राप्त करते हुए आरंभ से ही मुनाफा कमाना स्टार्ट कर देते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हमने MRF Tyres फ्रेंचाइजी कैसे ले? (MRF Tyres Franchise Hindi) इसके बारे में संपूर्ण जानकारी आप तक पहुंचाई है। हमें पूरी उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपके लिए काफी ज्यादा हेल्पफुल रही होगी। यदि कोई व्यक्ति इस आर्टिकल से संबंधित उलझन में है या व्यक्ति के मन में कोई सवाल है। तो वह हमें कमेंट के माध्यम से बता सकता है। हम आपकी समस्या का समाधान करने के लिए हर समय तत्पर रहते हैं।

यह भी पढ़े :

Apollo Tyres एजेंसी कैसे खोले?

Royal Enfield Dealership कैसे लें?

भारत गैस एजेंसी कैसे खोले?

टायर पंचर रिपेयर शॉप बिजनेस कैसे शुरू करें?

Leave a Comment