बिजनेस लाइसेंस कैसे बनवाएं? (2022)

Business License Kaise Banaye: आज के समय में लोग अपना व्यापार करने के ऊपर ज्यादा विचार विमर्श कर रहे है। आज के समय में नौकरी मिलना काफी मुश्किल हो गया है। इस परिस्थिति में अपना व्यापार करना काफी अच्छा विकल्प हो सकता है। जहां आपको नौकरी में दूसरे पर निर्भर होने की आवश्यकता है, वही अपने व्यापार में आप अपने काम के खुद मालिक होंगे।

मगर भारत में किसी व्यापार को शुरू करने के लिए उसका एक लाइसेंस होना आवश्यक है। अगर आप बिजनेस लाइसेंस कैसे बनवाएं? जैसे सवाल को गूगल पर ढूंढ रहे है, तो आजकल एक आपके लिए काफी उपयोगी हो सकता है। आज हम इसके बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे।

Business License Kaise Banaye
Business License Kaise Banaye

किसी भी व्यापार को सफल बनाने के लिए उसका कानूनी तौर पर सही होना बहुत आवश्यक है, जिसके लिए आपके पास अलग-अलग तरह के कानूनी दस्तावेज होने चाहिए। किसी भी व्यापार को शुरू करने के लिए सबसे प्रमुख कानूनी दस्तावेज उस व्यापार का लाइसेंस माना जाता है।

आप बिजनेस लाइसेंस कैसे बनवाएं? इसके बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा आज के लेख में की गई है, इसलिए नीचे बताए गए निर्देशों को ध्यान पूर्वक पढ़ते हुए उनका आदेश अनुसार पालन करें।

बिजनेस लाइसेंस कैसे बनवाएं? (2022) | Business License Kaise Banaye

Table of Contents

बिजनेस लाइसेंस क्या होता है?

बिजनेस लाइसेंस एक तरह का दस्तावेज होता है, जो आपको अपने सर्विस या प्रोडक्ट का क्रय–विक्रय करने की अनुमति देता है। सरल शब्दों में सरकार के तरफ से दिए जाने वाला यह एक प्रमाण पत्र है, जो इस बात को प्रमाणित करता है कि आप सरकार की इजाजत से सभी नियमों का पालन करते हुए अपना व्यापार कर रहे हैं।

आप चाहे किसी भी व्यापार को कर रहे हो आपको सरकार को अपने व्यापार के बारे में जानकारी देनी होगी। इसके लिए सरकार दो तरह के दस्तावेज देती है। पहला बिजनेस रजिस्ट्रेशन, जिसमें आप सरकार को अपने व्यवसाय की जानकारी देते है। दूसरा ट्रेड लाइसेंस, जिसमें सरकार आपको अपने सर्विस और प्रोडक्ट को बेचने की अनुमति देती है।

बिजनेस रजिस्ट्रेशन क्या होता है?

आप चाहे कैसा भी व्यापार कर रहे हो? अपने बिजनेस का लाइसेंस लेने के लिए आपको सबसे पहले बिजनेस रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। बिजनेस रजिस्ट्रेशन का मतलब होता है – आप जिस कारोबार को शुरू करने वाले है, उसकी जानकारी सरकार को देना। इससे सरकार के खाता में आप और आपके व्यापार का नाम आ जाएगा और आपको सरकार के तरफ से अलग-अलग तरह के योजनाओं का लाभ मिलेगा और सरकार आपके व्यापार से कुछ टैक्स ले पाएगी।

लोगों को लगता है कि बिजनेस रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया बहुत भागदौड़ भरा होगा, मगर ऐसा नहीं है। आपको कुछ छोटे-छोटे काम करने है, जिसे नीचे बताए गए है। उनमें से अब सारे काम ऑनलाइन हो सकते है और बड़ी आसानी से रजिस्ट्रेशन पूरा होने के बाद आपको आपका बिजनेस लाइसेंस मिल जाएगा।

ट्रेड लाइसेंस क्या है?

यह एक तरह का दस्तावेज होता है, जो सरकार के तरफ से दिया जाता है। जिसमें सरकार आप को इस बात की अनुमति देती है कि आपके द्वारा दिया जाने वाला सर्विस और प्रोडक्ट सही है आप उसे बेच सकते है।

ट्रेड लाइसेंस के लिए आप अपने व्यापार को पूर्ण तरह शुरू करने से 30 दिन पहले सरकारी कार्यालय में आवेदन कर सकते है। इसमें जब तक आपको ट्रेड लाइसेंस दिया जाएगा। तब तक आप अपना बिजनेस रजिस्ट्रेशन करवा सकते है। इन दोनों तरह के दस्तावेज आने के बाद आप अपना व्यापार शुरू कर सकते हैं।

यह भी पढ़े : गृह उद्योग कैसे शुरू करें? (प्रक्रिया और लाभ)

ट्रेड लाइसेंस के प्रकार

जब आप अपने व्यापार के लिए ट्रेड लाइसेंस लेने जाएंगे तो, वहां आपसे ट्रेड लाइसेंस का प्रकार पूछा जाएगा। मतलब आपको पता होना चाहिए कि आपके व्यापार के लिए किस तरह का ट्रेड लाइसेंस लगेगा। ट्रेड लाइसेंस के अलग-अलग प्रकार होते है, जिसके बारे में नीचे सरल शब्दों में आप को समझाने का प्रयास किया गया है।

खाद प्रतिष्ठान ट्रेड लाइसेंस

अगर आप ऐसा कोई व्यापार कर रहे है, जिसमें लोगों को खाद्य संबंधित सर्व या प्रोडक्ट दे रहे है तो आपको खाद्य प्रतिष्ठान ट्रेड लाइसेंस की आवश्यकता होगी। उदाहरण के तौर पर अगर आप अपना कोई खाद्य संबंधित प्रोडक्ट बाजार में बेचना चाहते है या फिर कोई होटल है या मेस ऐसी चीज खोलना चाहते है, तो आपको सबसे पहले खाद प्रतिष्ठान ट्रेड लाइसेंस लेना होगा।

अगर आप खानपान से संबंधित किसी भी तरह का व्यापार करते हैं और आपके पास खाद प्रतिष्ठान ट्रेड लाइसेंस नहीं है तो आपके दुकान या व्यापार को बंद किया जा सकता है। इसके अलावा अगर आपके द्वारा दिए गए किसी भी खाद्य संबंधित प्रोडक्ट से किसी के सेहत को नुकसान पहुंचता है, तो इसके लिए आपको दंड दिया जा सकता है। 

दुकान खोलने का ट्रेड लाइसेंस

सरकार अलग-अलग दुकानदार व्यापारियों को अलग अलग तरह का फायदा दे रही है। अगर आपके पास दुकान खोलने का ट्रेड लाइसेंस होगा तो आप सरकार के द्वारा दी जा रही इन सुविधाओं का लाभ उठा पाएंगे।

इसके अलावा अगर आप अपना एक दुकान खोल कर किसी भी तरह का सामान बेचना चाहते है, तो आपके पास एक दुकान खोलने का ट्रेड लाइसेंस होना चाहिए। वरना आपके ऊपर कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। इसलिए सबसे पहले अपना एक ट्रेड लाइसेंस बनवाए।

उद्योगिग लाईसेंस

उद्योग के रूप में लघु उद्योग भारत में सबसे ज्यादा प्रचलित है। अगर आप भी इस तरह का कोई छोटा मोटा उद्योग खोलना चाहते है, तो आपके पास एक औद्योगिक लाइसेंस होना चाहिए। जिसके बाद अपने घर या किसी भी चयनित स्थान पर कुछ मशीन के जरिए प्रोडक्ट का उत्पाद कर सकते है और एक उद्योग चला सकते हैं।

बिजनेस रजिस्ट्रेशन कैसे होता है?

किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस को बेचने के लिए आपके पास ट्रेड लाइसेंस होना चाहिए। वह क्या है और कितने प्रकार का होता है आप समझ गए होंगे। उसके बाद आपको बिजनेस रजिस्ट्रेशन कैसे मिलता है?, इसके बारे में समझना चाहिए।

  • अगर आप कोई उद्योग चलाना चाहते है, तो सबसे पहले जिला उद्योग कार्यालय में रजिस्ट्रेशन करवाएं।
  • आपका कोई भी व्यापार हो उसके लिए निगम लाइसेंस अपने जिला के नगर निगम ऑफिस से प्राप्त करिए।
  • आपके व्यापार से किसी को भी किसी तरह की तकलीफ नहीं होने वाली है। इसके लिए safety certificate department से NOC लीजिए।
  • अपने व्यापार का टैक्स देने के लिए GST रजिस्ट्रेशन करवाएं।

ऊपर बताए गए सभी कार्य को करवाने के बाद आपका बिजनेस रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा।

बिजनेस लाइसेंस कैसे बनवाएं?

जैसा कि हमने आपको बताया किसी भी व्यापार को शुरू करने के लिए बिजनेस लाइसेंस बहुत जरुरी होता है। भारत में बिज़नेस लाइसेंस दो दस्तावेज से मिलकर बनता है। पहला, आपके बिजनेस का रजिस्ट्रेशन होना चाहिए। दूसरा अपने प्रोडक्ट और सर्विस को बेचने के लिए ट्रेड लाइसेंस होना चाहिए। 

आप किस तरह इन दस्तावेज को बना सकते है, इसके बारे में नीचे विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई है उसे ध्यानपूर्वक पढ़ें। 

बिजनेस रजिस्ट्रेशन कैसे करें

अपने बिजनेस कर रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए चार चरण में काम करना पड़ता है। जिसके बारे में संक्षिप्त जानकारी ऊपर दी गई उसके बारे में विस्तार से नीचे बताया गया है कि प्रत्येक चरण में आपको क्या और कैसे करना है ।

जिला उद्योग कार्यालय में रजिस्ट्रेशन

अगर आप किसी लघु कार्यालय की शुरुआत करने जा रहे है तो इसकी जानकारी जिला उद्योग कार्यालय में देनी होगी, जो आपके बिजनेस रजिस्ट्रेशन का पहला चरण होगा।

आपको जिला उद्योग कार्यालय में जाकर लघु उद्योग के संबंध में एक फॉर्म भरना है। जिसके साथ आपको अपना पहचान पत्र वर्तमान, आय प्रमाण पत्र, एड्रेस प्रूफ और जहां व्यापार करना चाह रहे है उस जगह की जानकारी और अपने व्यापार के नाम और प्रकार की जानकारी को फॉर्म में सही तरीके से भरते हुए जरूरी दस्तावेज अटैच करके जिला उद्योग कार्यालय में जमा करवाना है।

निगम लाइसेंस

अपनी किसी भी व्यापार को शुरू करने में सबसे आवश्यक दस्तावेज के रूप में निगम लाइसेंस को देखा जाता है। यह एक ऐसा दस्तावेज है, जो नगर निगम कार्यालय के द्वारा आपको दिया जाता है। आपके नगर निगम से एक बार इस सर्टिफिकेट के मिलने का मतलब होता है कि आप अपना व्यापार अब शुरू कर सकते हैं।

अपने व्यापार का निगम लाइसेंस पाने के लिए आप नगर निगम कार्यालय, विकास प्राधिकरण कार्यालय, या जिला उद्योग कार्यालय में जाकर आवेदन कर सकते है। इस लाइसेंस को पाने के लिए आपको जिला उद्योग कार्यालय में रजिस्ट्रेशन की कॉपी, जहां लघु उद्योग खोलना है।

उसके मालिकाना हक या रेंट की कॉपी, और व्यापार में जिस मशीन का इस्तेमाल करना है उसके डिटेल की कॉपी कुछ फीस के साथ कार्यालय में जमा करनी है।

सेफ्टी डिपार्टमेंट की एनओसी

आप किसी भी व्यापार को शुरू कर रहे हैं, तो उसमें आप और आपके ग्राहक सुरक्षित रहें इस बात का ध्यान रखना सरकार का काम है। इस वजह से वह सेफ्टी डिपार्टमेंट के एनओसी की मांग करती है। आप अगर किसी भी व्यापार को शुरू करना चाहते हैं तो देश के अलग-अलग सेफ्टी डिपार्टमेंट से एनओसी लेकर नगर निगम कार्यालय में जमा करवाना होगा।

फैक्ट्री लाइसेंस हासिल करें

फैक्ट्री लाइसेंस को मुख्य रूप से बिजनेस लाइसेंस कहा जाता है। आपको बता दें की इस लाइसेंस को चीफ इंस्पेक्टर ऑफ फैक्ट्री का लाइसेंस भी कहा जाता है। इस दस्तावेज के बिना आप अपना बिजनेस शुरू तो कर लेंगे मगर उसे ज्यादा दिन चला नहीं पाएंगे क्योंकि यह एक आवश्यक दस्तावेज है, जो आपके व्यापार के कार्य प्रणाली को कानूनी तरीके का सबूत देता है।

मुख्य रूप से इस दस्तावेज को ही देश में लाइसेंस कहा जाता है, जिसे लेबर डिपार्टमेंट का हेड जारी करता है। इस दस्तावेज को पाने के लिए आपको अपने व्यापार की पूरी जानकारी लेबर डिपार्टमेंट के सामने रखनी होती है। सरकारी लेबर डिपार्टमेंट यह तय करता है कि जिन लोगों को आप अपने व्यापार में रोजगार दे रहे है, उन्हें सही तरीके से सुविधा मिल रही है या नहीं। उसके बाद आपको फैक्ट्री लाइसेंस या बिजनेस लाइसेंस दे दिया जाता है।

इस लाइसेंस को पाने के लिए लेबर डिपार्टमेंट में नगर निगम लाइसेंस, एनवायरमेंट डिपार्टमेंट और अन्य डिपार्टमेंट की एनओसी, आपके लघु उद्योग के लेआउट की कॉपी, आपके साथ काम करने वाले कर्मचारी की प्रोफाइल डिटेल, और सर्टिफिकेट फीस के साथ जमा करना है। उसके कुछ दिन बाद लेबर डिपार्टमेंट आपके उद्योग की जांच करेगा। अगर उसे सभी दस्तावेज सही मिलते है तो वह आपको लाइसेंस दे देगा।

अपने व्यापार का GST रजिस्ट्रेशन करवाएं

अगर आप अपना कोई व्यापार शुरू करते हैं तो मुनाफा होने के बाद आपको उसका कुछ हिस्सा टैक्स के रूप में सरकार को भी देना होगा। इसके लिए आपको जीएसटी रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके लिए आपको अपने इलाके के ब्लॉक में जाना होगा और वहां आपको इस बात की जानकारी मिलेगी की आपके व्यापार के लिए किस तरह का जीएसटी रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।

यह भी पढ़े : बारह महीने चलने वाला बिजनेस आइडियाज

ट्रेड लाइसेंस कैसे बनवाएं?

ऊपर बताई गई सभी जानकारियों को पढ़ने के बाद आप अपने व्यापार का बिजनेस लाइसेंस बिजनेस रजिस्ट्रेशन करवा लेंगे, मगर अपना बिजनेस लाइसेंस का काम पूरा खत्म करने के लिए आपको अपना ट्रेड लाइसेंस भी बनवाना होगा।

अपने व्यापार का ट्रेड लाइसेंस बनवाने के लिए सबसे पहले अपने व्यापार का आधार और पैन कार्ड बनवाइए। अगर आपको व्यापार करने के लिए जमीन को लीज पर ले रहे है, तो नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट, अगर रेंट पर ले रहे है तो रेंट की जानकारी और अगर जमीन आपकी है तो जमीन से जुड़ी अन्य जानकारी के कागज, आपके व्यवसाय संपत्ति से जुड़ा मालिकाना हक दस्तावेज, ले कर नीचे बताए गए निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करें।

सबसे पहले ट्रेड लाइसेंस की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं

ट्रेड लाइसेंस बनवाने के लिए सरकार ने एक अधिकारिक वेबसाइट बनाई है, जहां से आप अपने व्यापार के लिए ट्रेड लाइसेंस बनवा सकते है। अगर आप इस आधिकारिक वेबसाइट के बारे में नहीं जानते तो, ट्रेड लाइसेंस ऑनलाइन पोर्टल लिखकर सर्च करें।आपको ट्रेड लाइसेंस बनवाने वाले अधिकारी वेबसाइट मिल जाएगी।

अपना यूजर नेम और पासवर्ड बनाएं

ट्रेड लाइसेंस की आधिकारिक वेबसाइट पर आपको यूजर नेम और पासवर्ड बनाना है। वेबसाइट पर कुछ साधारण जानकारी पूछी जाएगी, जिसे भरने के बाद आप अपना यूजर नेम और पासवर्ड बना सकते है और उसके बाद अपना यूजर नेम और पासवर्ड इस्तेमाल करके आपको लॉगइन करना है।

ट्रेड लाइसेंस बनाने के लिए एक लिंक पर क्लिक करना है

लॉग इन करने के बाद आपको वेबसाइट पर एक लिंक मिलेगा, जिस लिंक पर क्लिक करते ही एक नया पेज खुलेगा। वह लिंग ट्रेड लाइसेंस बनवाने का लिंक होगा। उस लिंक पर क्लिक करते ही एक नया इंटरफ़ेस खुलेगा, जिसमें आपको एक फॉर्म दिया जाएगा जिसे ध्यान पूर्वक पढ़ते हुए पूछी गई सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक भरें।

निर्धारित शुल्क का भुगतान करके सबमिट करें

ऊपर बताए गए सभी निर्देशों का ध्यान पूर्वक पालन करने के बाद आपको निर्धारित शुल्क जमा करना होगा, जिसके बाद सबमिट के विकल्प पर क्लिक करके अपने फॉर्म को जमा करना है। अब शुल्क जमा करने के लिए ऑनलाइन किसी भी तरीके का चयन कर सकते हैं। आप के फॉर्म जमा करने के 10 से 15 दिन के भीतर आपको आपका ट्रेड लाइसेंस दे दिया जाएगा।

बिजनेस लाइसेंस बनाने के फायदे

अगर ऊपर बताए गए निर्देशों का पालन करने के बाद आप बिजनेस लाइसेंस बनवा लेते हैं, तो आपको किस तरह का फायदा मिलेगा इसे बताने के लिए नीचे कुछ प्रमुख फायदों को सूचीबद्ध किया गया है। 

  • बिजनेस लाइसेंस बनवाने के बाद आपके व्यापार को सरकारी मान्यता मिल जाती है।
  • व्यापारियों के लिए सरकार रोजाना नई नई योजना लेकर आ रही है, जिसके बारे में आपको बिजनेस लाइसेंस रहने पर पता चलता है।
  • बिजनेस लाइसेंस के रहने पर कोई भी व्यक्ति आपके सर्विस या प्रोडक्ट पर केस नहीं कर सकता। साथ ही आप पूरी तरह से सरकारी और सभी नियमों का पालन करते हुए अपना बिजनेस करेंगे तो सुरक्षित रहेंगे।
  • बिजनेस लाइसेंस होने पर आपके ग्राहक आप पर ज्यादा भरोसा कर पाएंगे और व्यापार में भरोसा बहुत बड़ी चीज है, जिसके आधार पर आपका व्यापार बड़ा बन सकता है।

बिजनेस लाइसेंस के नुकसान

वैसे तो इस तरह के कानूनी दस्तावेज बनाने पर किसी भी प्रकार के नुकसान नहीं होता, मगर बिजनेस लाइसेंस को बनाने में आपको कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, जिसे नुकसान के रूप में नीचे दिखाया जा रहा है। 

  • बिजनेस लाइसेंस बनवाने में काफी वक्त लगता है। आमतौर पर 10 से 15 दिन का वक्त तो लग जाता है और अन्य दस्तावेज बनाने में भी इतना ही वक्त लगता है। मतलब बिजनेस लाइसेंस के चक्कर में आप अपने व्यापार को कम से कम एक महीने बाद शुरू कर पाएंगे।
  • बिजनेस लाइसेंस बनवाने में कुछ पैसे लगते हैं, जो आपका व्यापार शुरू करने का खर्चा हो सकता है। मतलब व्यापार शुरू करते वक्त जहां आपको अपनी पूंजी लगानी पड़ रही है, वहां इस तरह के दस्तावेज बनवाने में भी आपको कुछ और पूंजी लगानी पड़ेगी।

FAQ

बिजनेस लाइसेंस क्या होता है?

बिजनेस लाइसेंस एक सरकारी दस्तावेज होता है, जिसके आधार पर आप यह दिखा सकते है कि आप सरकार के नियम के अनुसार अपना व्यापार कर रहे हैं।

बिजनेस लाइसेंस कैसे मिलता है?

बिजनेस लाइसेंस मुख्य रूप से 2 तरह के दस्तावेज का संस्करण है, जिसमें पहला दस्तावेज बिजनेस रजिस्ट्रेशन का होता है और दूसरा दस्तावेज ट्रेड लाइसेंस का होता है। बिजनेस रजिस्ट्रेशन का एक हिस्सा फैक्ट्री लाइसेंस होता है, जिसे बिजनेस लाइसेंस के रूप में भी जाना जाता है। इस तरह के दस्तावेज में बिजनेस रजिस्ट्रेशन को पाने के लिए नगर निगम कार्यालय में आवेदन करना होता है और ट्रेड लाइसेंस पाने के लिए ऑनलाइन अधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन करना पड़ता है।

किस बिजनेस को बिजनेस लाइसेंस की जरूरत होती है?

अगर आप भारत में किसी भी तरह का बिजनेस करना चाहते हैं, तो आपको बिजनेस लाइसेंस की जरूरत होगी। बिजनेस लाइसेंस के रूप में आपके पास बिजनेस रजिस्ट्रेशन और ट्रेड लाइसेंस के कागजात मौजूद होने चाहिए।

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को बिजनेस लाइसेंस कैसे बनवाएं? (2022) (Business License Kaise Banaye) के बारे में पूरी कंप्लीट जानकारी प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आप लोगों के लिए काफी ज्यादा महत्वपूर्ण और उपयोगी साबित हुई होगी।

अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो, तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि आप जैसे ही आने लोगों को भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में आप के जरिए पता चल सके एवं उन्हें ऐसे ही बिजनेस रिलेटेड महत्वपूर्ण लेख को पढ़ने के लिए कहीं और बार-बार भटकने की बिल्कुल भी आवश्यकता ना हो।

अगर आपके मन में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो। हम आपके द्वारा दिए क्या प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय शुभ हो।

यह भी पढ़े :

Leave a Comment

1 thought on “बिजनेस लाइसेंस कैसे बनवाएं? (2022)”

  1. शानदार व सम्पूर्ण जानकारी।
    धन्यवाद।

    Reply