शूज का बिजनेस कैसे शुरू करें?

Shoes Business Plan In Hindi : अगर आप किसी ऐसे बिजनेस की तलाश में है, जिसमें आपका कम निवेश लगे और प्रॉफिट बहुत ही ज्यादा हो तो ऐसे में आपको जूते और चप्पल का बिजनेस आपको करना चाहिए  क्योंकि आज के समय में यह बिजनेस बहुत ही तेजी से चल रहा है।

जो कोई भी शूज बिजनेस के बारे में जानना चाहते हो तो, आपको हमारा आज का यह महत्वपूर्ण लेख शुरू से लेकर अंतिम तक पढ़ना होगा।

Shoes Business Plan In Hindi
Image :Shoes Business Plan In Hindi

शूज बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है, जो एवरग्रीन बिजनेस के लिस्ट में आता है। यह बिजनेस हमेशा आपको मुनाफा ही देगा और अगर आपको मुनाफेदार बिजनेस कम निवेश में करना है, तो आपके लिए यह बिजनेस काफी बेस्ट ऑप्शन साबित हो सकता है।

अगर आपको इस बिजनेस को प्रारंभ करने से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जानना है, तो आज आप हमारे इस लेख को शुरुआत से लेकर अंतिम तक जरूर पढ़ें। हमने इस लेख में शूज बिजनेस शुरू करने से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी के बारे में बताया हुआ है। 

शूज का बिजनेस कैसे शुरू करें? | Shoes Business Plan In Hindi

शूज बिजनेस क्या है?

यह एक ऐसा बिजनेस होता है, जहां पर आप अलग-अलग ट्रेंडिंग शूज की सेलिंग करते हो और इसमें किसी और बिजनेस को जोड़ा नहीं जाता है। अगर आप शूज की दुकान पर जाओगे, तो वहां पर आपको सिर्फ शूज और शूज ही दिखाई देंगे।

इस बिजनेस को हर कोई कर सकता है। बस आपको यह पता करना है कि मार्केट में किस प्रकार के शूज सबसे ज्यादा ट्रेंडिंग में चलते हैं और किस कैटेगरी के एज वाले लोगों को कैसे शूज पसंद आते हैं। अगर आपने यह समझ लिया तो आपने यह बिजनेस भी कर लिया।

शूज बिजनेस की मांग

दोस्तों यह बिजनेस काफी ज्यादा मांग में रहने वाला बिजनेस है क्योंकि आज के समय में हर एक व्यक्ति अप टू डेट रहना चाहता है और अपने आप को अट्रैक्टिव दिखाना चाहता है और इसके लिए वे सभी प्रकार के आवश्यक वियर एसेसरी का इस्तेमाल करते हैं और इसमें शूज भी आता है। 

इसीलिए इस बिजनेस की मांग दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। अगर आप इस बिजनेस को करते हो तो आपको काफी अच्छा मुनाफा हो सकता है। 

शूज होलसेल बिजनेस के प्रकार

दोस्तों हमने आपको पहले ही बता दिया था की जूतों के बिजनेस करने के लिए सबसे पहले आप उसके बारे में जानकारी रख लें। जूते दो प्रकार के होते हैं।

  1. लोकल शूज
  2. ब्रांडेड शूज

लोकल शूज

दोस्तों अगर आप लोकल जूते बेचते हो, तो आपको बहुत ही कम मुनाफा होगा। इसके लिए आप शहरी इलाके में से जूते मंगा कर आप अपने गांव में इसे बेच सकते हैं।

ब्रांडेड शूज

दोस्तों अगर आप ब्रांडेड शूज को बेचना चाहते हो, जैसे Reebok, Adidas, Puma, Lee Cooper, Woodland और spark जैसी कंपनियां आप बेचते हो, तो इससे आपको बहुत ही ज्यादा मुनाफा होगा। इस तरीके से आप शूज का बिजनेस चला सकते हो।

यह भी पढ़ें : बारह महीने चलने वाला बिजनेस आइडियाज

शूज का बिजनेस कैसे शुरू करें?

अगर आपको शूज का बिजनेस शुरू करना है तो आपको कुछ बातों पर ध्यान देना होगा और साथ ही में कुछ पैरामीटर बनाकर इस बिजनेस को शुरू करना होगा।

इसके लिए आप हमारे द्वारा आगे दी जाने वाली जानकारी को ध्यानपूर्वक से पढ़ें ताकि आप इस बिजनेस को आसानी से शुरू कर सकूं और आपको इस बिजनेस को शुरू करने में ज्यादा समस्याओं का भी सामना ना करना पड़े।

शूज के लिए माल कहां से खरीदें?

अगर आपको शूज का बिजनेस शुरू करना है तो आपको माल भी लाना होगा और अगर आपके मन में सवाल उठ रहा है कि आप माल कहां से मंगवा सकते हो?, तो हम आपको बता दें कि आप होलसेल से अपने सभी माल को मंगवा सकते हो।

इससे आपको काफी ज्यादा सस्ता माल भी मिलेगा और आपको ज्यादा से ज्यादा माल आसानी से मिल जाएगा। 

शूज के बिजनेस के लिए जगह

शूज के बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको एक ऐसी लोकेशन का चुनाव करना होगा, जहां पर ज्यादातर लोगों का आना जाना लगा हो और आपकी दुकान तक आने में भी लोगों को समस्याओं का सामना ना करना पड़े।

इसके लिए आप किसी भीड़ भाड़ वाली जगह का चुनाव कर सकते हो। या फिर आप किसी चौराहे या फिर ऐसी जगह का चुनाव कर सकते हो, जहां पर कोई पॉपुलर लैंड मार्क हो। इस बिजनेस को आप ऐसी जगहों पर ही शुरू करके अच्छा मुनाफा कमा सकते हो। 

शूज का बिजनेस करने के लिए लाइसेंस

किसी भी बिजनेस को शुरू करने के लिए हमें लाइसेंस और पंजीकरण लेना होता है परंतु हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको कोई भी लाइसेंस या फिर पंजीकरण की आवश्यकता नहीं है।

अगर यही बिजनेस आपका एक ब्रांड के रूप में आगे चलकर बड़ा हो जाता है, तब आपको हो सकता है लाइसेंस और पंजीकरण लेने की आवश्यकता हो।

शूज बिजनेस के लिए स्टॉफ

दोस्तों अगर आप इस बिजनेस को छोटे स्तर पर शुरू करते हो तो आपको ज्यादा स्टाफ मेंबर की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आप इसे अकेले ही हैंडल कर सकोगे। अगर वही यह बिजनेस बड़ा होता चला जाता है और आपके पास ज्यादा से ज्यादा रोजाना ग्राहक आने लगते हैं तब आपको कुछ स्टाफ मेंबर को रखने की आवश्यकता आन पड़ेगी।

आप ऐसे ही स्टाफ मेंबर का चयन करें, जो ग्राहकों से विनम्रता के साथ बात कर सके और उनकी समस्या को समझ कर उन्हें बेस्ट से बेस्ट तरीके से गाइड कर के आप के सामान की सेलिंग कर सके। आप अपने स्टाफ मेंबर को अपने लोकल एरिया से भी आसानी से हायर कर सकते हो।

शूज शुरू करने के लिए पैकेजिंग

शूज के बिजनेस में ज्यादा पैकेजिंग करने की आवश्यकता नहीं होती है। परंतु अगर आप अपने ब्रांड की ब्रांडिंग करके ग्राहकों को सेलिंग करना चाहते हो, तब आप पैकेजिंग पर ध्यान दे सकते हो।

इसके लिए आप अपने शूज के बिजनेस की ब्रांडिंग करने के लिए अपने नजदीकी किसी भी जगह से पैकेज की डिजाइनिंग करवा सकते हो और उस पर अपनी दुकान का लोगो और कंपलीट एड्रेस भी मेंशन कर सकते हो और इसके अलावा आप अपने कांटेक्ट डिटेल भी वहां पर मेंशन कर सकते हो। इस प्रकार से आपकी मार्केटिंग भी हो जाएगी और आपके शूज बिजनेस के ब्रांडिंग भी हो जाएगी।

शूज के बिजनेस के लिए निवेश

शूज के बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको कम से कम ₹150000 से लेकर करीब ₹200000 के बीच का निवेश करना ही होगा और अगर आप इतने ही पैसे में ब्रांड वाली वस्तु को खरीद कर अगर आप इसे बेचते हो, तो आपका काफी ज्यादा मुनाफा होगा और आप इसमें ज्यादा इन्वेस्टमेंट करते हो आपका बिजनेस काफी ज्यादा धीरे-धीरे बड़ा होता चला जाएगा।

अगर आप अपना बिजनेस किसी छोटे मार्केट में खोलते हो, तो आपको इनकम पाने में काफी ज्यादा समय लग जाएगा। इसीलिए आप इस बिजनेस को शहरी इलाकों में खोलें ताकि आपको कम समय में ही काफी ज्यादा मुनाफा हो सके और आप अपने बिजनेस को धीरे-धीरे बड़ा कर सकें इस तरह  से आप अपने बिजनेस को चला सकते हो।

शूज बिजनेस शुरू करने में रिस्क

दोस्तों अगर आपको शूज का बिजनेस शुरू करना है, तो आपको इस बिजनेस में आने वाले रिस्क के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए। दोस्तों अगर आप इस बिजनेस को किसी ऐसी जगह पर करते हो, जहां पहले से ही इस बिजनेस को चलाया जा रहा है तो आपको हो सकता है मुनाफा कम हो और काफी कंपटीशन का भी सामना करना पड़े।

ऐसी परिस्थिति में आपको अपनी दुकान में कुछ यूनिक से ट्राई करना होगा। मतलब ऐसा कुछ, जो आज के अगल-बगल किसी ने भी कुछ नहीं किया हो। इसके अलावा आपको प्रत्येक सामान का मूल्य भी आपके कंपीटीटर के हिसाब से कम ही रखना होगा।

आपको ग्राहकों के साथ अच्छा व्यवहार करना है और उनकी समस्या को समझ कर और उनके हिसाब से ही आपको शूज का बिजनेस शुरू करना है।

शूज के बिजनेस में होने वाला मुनाफा

दोस्तों अगर आपको किसी भी बिजनेस में मुनाफा ना हो, तो उस बिजनेस शुरू करने का कोई मतलब नहीं होगा। इसीलिए चलिए अब हम आप सभी लोगों को शूज के बिजनेस में कितना मुनाफा आप कमा सकते हो इसके बारे में जानकारी देते हैं।

इस बिजनेस में हमें अच्छा मार्जिन प्राप्त होता है। अगर आप कोई भी शूज की बिक्री करते हो, तो आपको प्रत्येक शूज पर कम से कम ₹200 से लेकर ₹300 के बीच का मुनाफा हो सकता है।

अगर आपके ग्राहक ज्यादा होते चले जाते हैं, तो आप 1 दिन में एक बिजनेस से ₹2000 से लेकर करीब ₹4000 के ऊपर के इन काम आसानी से कर सकते हो और यही मुनाफा ग्राहकों की संख्या में और बढ़ोतरी होने से कई गुना ज्यादा भी हो सकता है।

यह भी पढ़ें : कम निवेश में लघु उद्योग कैसे शुरू करें?

शूज के बिजनेस में फायदा

दोस्तों अगर आप शूज का बिजनेस को शुरू करना चाहते है, तो यह जरूरी नहीं होता की हर बार हम अपने बिजनेस में सफल हो सके। बिजनेस में सफल होने के लिए हम आपको इस बिजनेस के बारे में नीचे कुछ जानकारी दी है। अगर आप हमारे द्वारा दी गई जानकारी को स्टेप बाय स्टेप पढ़ते हो, तो आपको अपने शूज के बिजनेस में सफलता जरुर प्राप्त होगी।

  • इस बिजनेस को कोई भी आसानी से शुरू कर सकता है।
  • इस बिजनेस में मुनाफा काफी ज्यादा होता  हैं।
  • इस बिजनेस को आप कहीं पर भी शुरू कर सकते हो।
  • ब्रांड वाली वस्तु को बेचने से मुनाफा काफी ज्यादा अच्छा होता  हैं।

शूज के बिजनेस में नुकसान

शूज के बिजनेस को शुरू करने में आपको क्या क्या नुकसान हो सकता है? आपको इसके बारे में भी जानना बेहद जरूरी है। चलिए अब हम आप सभी लोगों को नीचे पॉइंट के माध्यम से शूज के बिजनेस के कुछ नुकसान के बारे में जानकारी दे देते हैं और आप नीचे दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें।

  • अगर आप इस बिजनेस में नहीं हो तो, हो सकता है आपको अपने बिजनेस को अच्छा स्टार्टअप देने में समस्या का सामना करना पड़े।
  • अगर आपको शूज के बिजनेस की समझ नहीं है तो आपके लिए यह बिजनेस नहीं है और ना ही आप इस पर मुनाफा कमा सकते हो।
  • इस बिजनेस में ग्राहकों के साथ काफी मोलभाव करना होता है और अगर आप इस तरीके से बिजनेस को आगे नहीं ले जा पाओगे, तो यह बिजनेस आपके लिए नहीं बना है। 
  • अगर आपने अपने इस बिजनेस में अपने कंपीटीटर को ठीक से नहीं समझा तो आप इस बिजनेस में सफल नहीं हो सकते।
  • आपको बिजनेस में होने वाले मार्जिन के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए ताकि आप ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमा सके। 

FAQ

जूते की दुकान में कितना निवेश होता हैं?

दोस्तों अगर आप शूज का बिजनेस करना चाहते हो तो इसमें 2 लाख लगता है और इसमें इनकम लगभग 7 से 12 लाख रुपए तक होता है।

फुटवियर की दुकान का क्या नाम रखें?

दोस्तों अगर आप अपनी फुटवियर का दुकान नाम रखना चाहते हो तो आप किसी ऐसे नाम का चयन करें जो काफी ज्यादा आसान हो और लोग उसे भूल ना सके।

सबसे महंगा जूता कितने का हैं?

दोस्तों सबसे महंगा जूते का नाम  स्नीकर्स सॉलिड गोल्ड ओवीओ एक्स एयर जॉर्डन है और इसकी कीमत लगभग 3 मिलियन डॉलर से अधिक होता है और भारत में इसकी कीमत 14.86 करोड़ रूपया होता हैं।

शूज के बिजनेस से कितना कमाया जा सकता है?

अगर आप इस बिजनेस को अच्छे से चला लेते हो तो, आप 1 दिन में ₹1500 से लेकर ₹3000 के ऊपर की इनकम आसानी से कर सकते हो।

क्या शूज के बिजनेस को शुरू करने के लिए लाइसेंस और पंजीकरण की आवश्यकता होती है?

अगर आप इस बिजनेस को छोटे स्तर पर करते हो, तो आपको किसी भी प्रकार के लाइसेंस और पंजीकरण की आवश्यकता नहीं होगी। परंतु अगर आप इस बिजनेस को एक ब्रांड के तौर पर शुरू करना चाहते हो तो, आपको हो सकता है लाइसेंस और पंजीकरण बनवाना पड़े।

निष्कर्ष 

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को शूज का बिजनेस कैसे शुरू करें? ( Shoes Business Plan In Hindi) के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है और अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो, आप अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हो। हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे आज के इस लेख को शुरू से अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय शुभ हो।

यह भी पढ़ें :

नया बिजनेस कौन सा करें?

जूता चप्पल की दुकान कैसे खोले?

किसी भी कंपनी की एजेंसी कैसे लें?

गृह उद्योग कैसे शुरू करें? (प्रक्रिया और लाभ)

Leave a Comment