Home » बिजनेस आइडिया » एलईडी लाइट का बिजनेस कैसे शुरू करें?

एलईडी लाइट का बिजनेस कैसे शुरू करें?

LED Bulb Making Business in Hindi: LED लाइट को लाइट एमिटिंग डायोग इस नाम से भी जाना जाता है। यदि आपको बिजली की बचत करनी है तो आप इसके द्वारा बनाए गए इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का इस्तेमाल कर सकते हैं। हमारे देश में सरकार आजकल एलईडी लाइट का बहुत ज्यादा समर्थन करने लगी है।

इसकी काफी सारे हिस्सों में भारत सरकार द्वारा लागू डोमेस्टिक एफिशिएंट लाइटिंग प्रोग्राम अर्थात डीपीएल का पालन किया जाता है। इस डोमेस्टिक एफिशिएंट लाइटिंग के का नाम बदलकर भारत सरकार ने उजाला योजना में परिवर्तित कर दिया था, इसलिए यह योजना उजाला नाम से प्रचलित है।

यह योजना अपना नाम बनाने में और अपना कार्य करने में बहुत ज्यादा सफल रह चुकी है, जिसके कारण ही आजकल इलेक्ट्रॉनिक्स मार्केट में एलईडी लाइट के व्यापार में बढोतरी हो रही है। इस व्यापार का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे काफी कम पैसों के साथ शुरुआत कर सकते हैं और इस व्यापार के द्वारा प्राप्त होने वाले लाभ की संभावनाएं बहुत ज्यादा है।

LED Bulb Making Business in Hindi
Image: LED Bulb Making Business in Hindi

इस आर्टिकल में LED बल्ब मैन्युफैक्चरिंग व्यापार के बारे में विस्तार से संपूर्ण जानकारी दी गई है, जिसकी सहायता से कोई भी आसानी से एलईडी लाइट का व्यापार करने का सोच सकते है व उसका आरंभ भी कर सकते है।

नवीनतम बिजनेस आइडिया और पैसा कमाने के तरीके जानने के लिए हमारे वाट्सऐप पर जुड़ें Join Now
नवीनतम बिजनेस आइडिया और पैसा कमाने के तरीके जानने के लिए हमारे टेलीग्राम पर जुड़ें Join Now

एलईडी लाइट का बिजनेस कैसे शुरू करें? | LED Bulb Making Business in Hindi

एलईडी लाइट का व्यापार कैसे शुरू करें?

LED light का बिजनेस शुरू करने के कई प्रकार होते हैं, जिनसे हमें लाभ हो सकता है। इसके माध्यम से अच्छी कमाई करने के लिए आप एलईडी लाइट्स की ट्रेडिंग भी कर सकते हैं। यह करने के लिए आपको सबसे पहले किसी भी इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान या फिर आपके पास के किसी जनरल मार्केट में कोई भी दुकान को किराए पर लेना होता है या फिर आपके पास ऐसी कोई जगह उपलब्ध हो, जिसे दुकान में परिवर्तित किया जा सकता है।

एक बार उस दुकान को व्यवस्थित करने के बाद आप उसे एलइडी को बेचने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। एलईडी लाइट बेचने के लिए सबसे पहले आपको स्वयं को एलईडी लाइट्स खरीदना होगा, जो आप किसी होलसेल एरिया सप्लायर के द्वारा ले सकते हैं।

यह ध्यान रहे कि किसी भी व्यापार को शुरू करने से पहले आप उस व्यापार के बारे में विस्तार से हर एक जानकारी प्राप्त कर लें। उसी तरह एलईडी लाइट्स के व्यापार के लिए भी आपको एलईडी लाइट के बारे में हर तरह की जानकारी पता रहनी चाहिए।

एलईडी लाइट के प्रकार

एलइडी लाइट्स के कई प्रकार होते हैं, जिनके बारे में निम्नलिखित सूची में दिया गया है:

  • Dimmer switches
  • Colour LED
  • LED tubes for lightning
  • SMD LED
  • COB LED
  • Graphene LED
  • Traditional and inorganic LED
  • Maximum brightness LED
  • Organic LED

एलईडी लाइट के व्यापार के लिए मार्केट रिसर्च

न केवल एलईडी लाइट्स परंतु किसी भी वस्तु के बिजनेस की शुरुआत करने से पहले आपको यह ध्यान में रखना होता है कि उसकी मार्केट में वैल्यू क्या है? आपको यह पता होना चाहिए कि कस्टमर्स किस तरह का प्रोडक्ट खरीदना पसंद करते हैं या उस जगह पर किस तरह के प्रोडक्ट की ज्यादा मांग होती है।

मार्केट में आपके प्रोडक्ट के लिए लोगों की कितनी दूरी है? व कितने लोग आपके प्रोडक्ट को पसंद करते हैं? यह भी बहुत ही आवश्यक होता है।

आपको यह पता होना चाहिए कि लोगों में एलईडी लाइट्स को खरीदने के प्रति कितना उत्साह है या किस जगह पर एलइडी लाइट्स की मांग ज्यादा है। उस जगह पर ही आप अपनी दुकान खोल सकते हैं। ताकि आपको ज्यादा लाभ हो और नुकसान की संभावनाएं कम हो।

लाइट्स के प्रति इलेक्ट्रॉनिक मार्केट में शॉपकीपर्स और कस्टमर्स दोनों का रिस्पांस जाना अत्यंत ही आवश्यक होता है, जिससे आपको एलईडी लाइट्स के व्यापार करने के लिए काफी सारी जानकारी मिलेगी और आपको इस सेक्टर के बारे में अधिक डिटेल्स मिलेगी।

एलईडी बल्ब के व्यापार के लिए रॉ मैटेरियल और लागत

एलईडी लाइट का व्यापार करने के लिए आपको कई प्रकार के रॉ मैटेरियल की आवश्यकता पड़ेगी, जिनके बिना एलईडी लाइट का व्यापार लगभग असंभव है। आप यह सब सामान या तो किसी दुकान से ले सकते हैं या फिर ऑनलाइन भी मंगवा सकते हैं, जिसके लिए आपका यह ज्ञात होना जरूरी है कि एलईडी लाइट्स के व्यापार के लिए आपको किन-किन रॉ मैटेरियल्स की ज़रूरत होगी।

नीचे एक सूची दी गई है, जिसमें आपको रॉ मैटेरियल्स जिनकी आवश्यकता होगी, उनके बारे में वह उनकी कीमत के बारे में दिया गया है:

  • लेड चिप्स जिसकी हिम्मत लगभग 1200 रुपए होती है।
  • आपको एक रेक्टिफिएर मशीन भी लगेगी, जिसकी कीमत लगभग ₹9 प्रति इकाई होती है।
  • एक हिट सिंक डिवाइस की भी आपका आवश्यकता पड़ेगी, जिसकी कीमत ₹400 होती है।
  • एक मैटेलिक कैप होल्डर
  • प्लास्टिक बॉडी की कीमत ₹50 प्रति इकाई होती है।
  • एक रिफ्लेक्टर प्लास्टिक ग्लास की कीमत ₹3 प्रति इकाई होती है।
  • लगभग ₹480 का एक कनेक्टिंग वायर भी लगेगा।
  • एक ₹80 का सोल्डरिंग फ्लक्स।

एलईडी बल्ब बनाने की मशीन की कीमत और अन्य उपकरण

सिर्फ रॉ मैटेरियल्स ही नहीं, इसके साथ-साथ आपको कई मशीनरी व इक्विपमेंट्स की आवश्यकता भी होगी। इन इक्विपमेंट्स और मशीनरी को आप खुद जाकर खरीद सकते हैं या फिर अपना काम आसान करने के लिए इन्हें ऑनलाइन भी आर्डर कर सकते है। मार्केट में व ऑनलाइन हर तरह के इक्विपमेंट्स अवेलेबल होते हैं, जो आपको मदद कर सकते हैं।

एलईडी लाइट्स का व्यापार करने के लिए कई मशीनों की आवश्यकता होती है, जो बहुत ही जरूरी होते हैं। नीचे हमने सूची प्रदान की है, जिसमें आपको एलईडी लाइट्स के व्यापार के लिए जिन-जिन मशीनरी स्टोर उपयोग होगा, उनके बारे में वह उनकी प्राइस के बारे में दिया गया है। सहायता से आप आसानी से अपने एलइडी लाइट्स के बिजनेस के लिए इक्विपमेंट्स खरीद पाएंगे।

  • आपको एक कॉम्पोनेंट फॉर्मिंग मशीन की जरूरत पड़ेगी, जिसकी कीमत लगभग ₹85000 है।
  • आपको एक सोल्डरिंग मशीन की जरूरत पड़ेगी, जिसकी कीमत ₹300 होती है।
  • इसके साथ में आपको एक डिजिटल मल्टीमीटर जिसकी कीमत 551 होती है, उसकी भी आवश्यकता पड़ेगी।
  • एक टेस्टर खरीदना पड़ेगा, जिसकी कीमत ₹565 होती है।
  • आपको एक सीलिंग मशीन भी खरीदना होगा, जिसकी कीमत 1350 रुपए होती है।
  • आप को एक एलसीआर मीटर की भी आवश्यकता पड़ेगी, जिसकी कीमत 24000 रुपए होती है।
  • आपको कम से कम एक छोटी ड्रिलिंग मशीन खरीदना होगा, जिसकी कीमत 1800 रुपए होती है।
  • आपको एक लक्स मीटर भी खरीदना होगा, जिसकी कीमत 1200 रुपए होती है।

यह भी पढ़े: कपड़े का बिजनेस कैसे शुरू करें?

एलईडी लाइट के व्यापार की प्रक्रिया

एलईडी लाइट का व्यापार एक प्रोसेस होता है, जिसमें कई पहलू होते हैं। एक-एक करके उन सभी पहलुओं को पार करके आप अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं। इस बिजनेस को शुरू करने के लिए कई मुद्दों को ध्यान में रखना होता है। यदि छोटे स्तर पर इसकी शुरुआत की जाए तो भी ऐसी कई चीजें होती है, जिनका आपको ख्याल रखना पड़ता है।

यदि आप बड़े स्तर पर अपना बिजनेस शुरू कर रहे हैं तो इस व्यापार की बहुत सारी रिक्वायरमेंट्स होती है। एलईडी लाइट्स के व्यापार के लिए आपको निम्नलिखित प्रोसेस स्टेप्स का पालन करना होगा।

इन्वेस्टमेंट का प्रबंध करना

सबसे पहले आपको अपने व्यापार के लिए इन्वेस्टमेंट का प्रबंध करना होता है। यदि आप निवेश के लिए धनराशि का प्रबंध नहीं कर पा रहे हैं तो आपका व्यवसाय शुरू नहीं हो पाएगा।

जमीन देखना

इस स्टेप में व्यवसाय के लिए सूटेबल जमीन का चयन करना होता है। यदि आपके पास पहले से ही जमीन है, जो आपकी खुद की है तो आपको जमीन देखने व उसे खरीदने के लिए पैसे खर्च करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

बिज़नेस प्लानिंग करना

इस चरण में आपको आपके बिजनेस में लगने वाला खर्चा व इसलिए लगने वाले कार्य इत्यादि की डिटेल में प्लानिंग करनी होती है।

बिल्डिंग

इसके पश्चात आपको आपके एलईडी के व्यवसाय के लिए बिल्डिंग का निर्माण करना होता है। यदि आपके पास पहले से ही दुकान उपलब्ध है तो आप इस चरण को स्किप कर सकते हैं।

मशीनें खरीदना

कई प्रकार की मशीनें होती है, जिनका एलईडी बल्ब के व्यवसाय में काम पड़ सकता है। सभी मशीनों व इक्विपमेंट्स को खरीदना होता है और उन्हें जमाना होता है। क्योंकि मशीनों के बिना आपका एलईडी लाइट्स का व्यवसाय चल नहीं पाएगा।

बिजली व पानी की सुविधाओं का ख्याल रखना

आपको अपने व्यवसाय में जरूरी चीजों का ख्याल रखना बहुत आवश्यक है जैसे कि कुछ बेसिक चीजे, बिजली या पानी।

कर्मचारी तय करना

आपको अपनी दुकान सेट अप करने के बाद वह उसकी सभी सामग्रियों को लेने के बाद सबसे आवश्यक है कि आप कुछ कर्मचारी अप्वॉइंट करें जो आपको आपका काम करने में मदद करेंगे।

कच्चा माल खरीदना

इसके पश्चात आपको एलईडी लाइट के व्यवसाय के लिए जो भी कच्चा माल लगता है, उस सब को खरीदना होगा।

वाहन का प्रबंध करना

इसके पश्चात अंतिम चरण में आपको अपने ग्राहकों के लिए सर्विस का प्रबंध करना होगा। जैसे कि सामान को एक जगह से दूसरी जगह तक पहुंचाने के लिए एक या दो वाहनों का प्रबंध करना पड़ेगा।

एलईडी बल्ब के बिजनेस के लिए लोकेशन

एलईडी का व्यापार करने से पहले आपको व्यापार के लिए एक स्थान तय करना होता है, जहां पर आप अपना व्यापार शुरू कर सकते हैं। आपको यदि एलईडी लाइट्स की दुकान शुरू करनी है तो ऐसे स्थान का चयन करें जहां पर एलइडी लाइट्स की डिमांड ज्यादा हो या एलईडी लाइट ज्यादा बिकती हो। ताकि आपका प्रॉफिट ज्यादा हो।

ऐसे किसी स्थान का चयन ना करें जहां पर पहले से कोई एलईडी लाइट्स की दुकान हो, इससे बेहतर होगा ऐसे किसी जगह जहां पर LED लाइट की मांग ज्यादा हो और उसे पाने के साधन कम हो और इसकी दुकान खोलने में ज्यादा जगह की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। एक छोटा सा कमरा या एक रूम का घर भी पर्याप्त होता है। आप बाद में उसे एक दुकान का रूप दे सकते हैं।

एलईडी बल्ब के बिजनेस के लिए लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन

लाइट का व्यापार करने के लिए सबसे जरूरी होता है कि आप सरकार द्वारा प्रशिक्षण ले। भारत सरकार हमारे देश में एलईडी लाइट को बढ़ावा देती है। इसीलिए कई प्रकार की एलइडी लाइट्स से रिलेटेड ट्रेनिंग भी प्रदान करती है। एक बार आपकी एलईडी लाइट्स के व्यापार के लिए इन्वेस्टमेंट का प्रबंध हो जाए तो उसके पश्चात आपको तुरंत ही इसके लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन के लिए अप्लाई करना होता है।

लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करना इसलिए जरूरी है। क्योंकि एलइडी लाइट्स का व्यापार लीगल होना चाहिए। ध्यान रखें कि लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन करने के पश्चात ही एलईडी लाइट का व्यापार शुरू करें। ताकि आपका व्यवसाय गवर्नमेंट द्वारा अप्रूव हो।

एलईडी बल्ब के बिजनेस के लिए स्टाफ

आपको आपके एलईडी लाइट के व्यापार में के लिए स्टाफ मेंबर्स की आवश्यकता भी पड़ेगी, जिनकी सहायता से आप आसानी से यह कार्य कर पाएंगे और वह इस काम के प्रॉफिट या लॉस को समझाने या इस काम के कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लेने में आपकी सहायता करेंगे।

कुछ स्टाफ मेंबर्स जिनकी अवश्य ही मदद लगेगी है, एक मैनेजर, एक या दो डिलीवरी करने के लिए, कुछ कर्मचारी आप की दुकान पर सामान को व्यवस्थित रखने के लिए, दुकान को संभालने के लिए कुछ कर्मचारी, दुकान को स्वच्छ रखने के लिए कुछ कर्मचारी। दुकान की पॉलिसी को आपके ग्राहक को तक पहुंचाने के लिए एक या दो कर्मचारी, ग्राहकों की कंफ्यूजन दूर करने के लिए एक कर्मचारी और एक या दो कर्मचारियों के प्रोडक्ट की मार्केटिंग करने के लिए इत्यादि।

इन स्टाफ मेंबर्स की सहायता से आपका बिजनेस और बेहतर तरीके से चल पाएगा और आपको अपना व्यवसाय संभालने में आसानी होगी।

एलईडी बल्ब के बिजनेस के लिए पैकेजिंग

आपके प्रोडक्ट की क्वालिटी के साथ-साथ आपके प्रोडक्ट के पैकेजिंग की क्वालिटी का भी आप को खास ख्याल रखना होता है। यदि आप अपने प्रोडक्ट क्वालिटी पैकेजिंग नहीं करेंगे तो आपके ग्राहकों को आपके प्रोडक्ट की क्वालिटी भी कम ही लगेगी और वे आपके प्रोडक्ट की ओर आकर्षित नहीं होंगी। किसी भी प्रोडक्ट को बेचते वक्त इस बात का ख्याल रखना आवश्यक है कि प्रोडक्ट में आपके ग्राहकों रुचि हो।

एलईडी बल्ब के बिजनेस के लिए लागत और निवेश

इसका व्यापार करने के लिए आपको पहले से ही कुछ पैसों की इन्वेस्टमेंट करनी होती है। इसीलिए आपको इसका व्यापार करने के लिए पहले से ही कुछ है पैसों बंद करके रखना होगा। ताकि आप आसानी से इस बिजनेस की शुरुआत कर सके। आपको इस व्यापार को शुरू करने के लिए जमीन लगेगी। यदि आपके पास जमीन है तो आपको उसके लिए पैसे भरने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

लेकिन यदि नहीं है तो कम से कम 5 से 10 लाख रुपए की जमीन उपलब्ध होती है। इसके पश्चात आपको अपनी दुकान को बनाने के लिए भी कुछ पैसों की आवश्यकता पड़ेगी। जमीन की कीमत कम से कम तीन से पांच लाख हो सकती है। यदि आपको इस जमीन की और दुकान की निर्माण करने के लिए पैसे बचाने है तो आप इसके बदले में किसी दुकान को किराए पर भी ले सकते हैं। यह आपको सस्ते में मिल जाएगा। दुकान मिलने के बाद आपको मशीनें लेनी होती है।

इक्विपमेंट्स की कीमत कम से कम 1 से 2 लाख तक की हो सकती है। फिर आपको रॉ मटेरियल के लिए भी कुछ धनराशि की आवश्यकता पड़ेगी जो कम से कम 50000 से 1 लाख रुपए तक की कीमत के होते है। यदि आपके पास खुद की जमीन है तो आपको थोड़ा कम इन्वेस्टमेंट लगेगा जो कम से कम पांच से दस लाख तक का होगा। परंतु यदि आपके पास खुद की जमीन नहीं है तो डिसइनवेस्टमेंट की धनराशि में और पांच से दस लाख रुपयों की बढ़ोतरी होगी।

एलईडी बल्ब के बिजनेस में फायदा

आजकल हमारे देश में एलईडी लाइट की डिमांड बहुत ही तेज गति से बढ़ रही है। अधिकतर लोग एलईडी लाइट्स का इस्तेमाल करना पसंद करते है, इसीलिए इस क्षेत्र में बहुत ज्यादा प्रॉफिट होने की संभावनाएं हैं। एलईडी लाइट्स की डिमांड ज्यादा होने की वजह से इसकी खरीदारी में भी बढ़ोतरी होती है।

एलईडी बल्ब के बिजनेस की मार्केटिंग

एलईडी लाइट्स की बिजनेस मार्केटिंग करना भी बहुत ही जरूरी होता है, जिसकी सहायता से कस्टमर्स तक आपके प्रोडक्ट के बारे में जानकारी पहुंचेगी और फिर वह आपके प्रोडक्ट को खरीद पाएंगे। मार्केटिंग के लिए आपको कई तरह के ऑप्शंस मिलते हैं। जैसे कि सोशल मीडिया मार्केटिंग यह सबसे आसान प्रकार की मार्केटिंग होती है।

इसमें आपको ऑनलाइन माध्यम से अपने कस्टमर्स से जुड़ना होता है। अपने प्रोडक्ट की वेबसाइट बनाकर भी अलग-अलग सोशल नेटवर्किंग साइट प्रोडक्ट की वेबसाइट शेयर करके एडवर्टाइजमेंट कर सकते हैं। इससे अधिक से अधिक ग्राहक आपके प्रोडक्ट की ओर आकर्षित होंगे।

मार्केटिंग का दूसरा तरीका होता है। पोस्टर और पैमप्लेट की सहायता लेना। आप अखबारों के द्वारा, पैंपलेट्स के द्वारा या पोस्टर्स के द्वारा भी अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग आसानी से कर सकते हैं। यह एक बहुत ही अच्छा तरीका होता है, जिससे आपके एलईडी लाइट्स का अच्छा प्रचार होगा।

ध्यान रहे कि आप अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग को इस प्रकार करना है कि इससे अधिक लोग आपके प्रोडक्ट की ओर आकर्षित हो और उन्हें आपके प्रोडक्ट में ज्यादा रुचि आए। जिससे आपके सेल्स बढ़ जाए और आपको बहुत ज्यादा प्रॉफिट की प्राप्ति हो। मार्केटिंग के और भी माध्यम होते हैं जैसे कि टेलीविजन, विज्ञापन अर्थात एडवर्टाइजमेंट करना।

एलईडी बल्ब के बिजनेस में रिस्क

हालांकि इस व्यापार में रिस्क भी बहुत होते है। जैसे कि यदि आपको व्यापार करते समय घाटा हो रहा है तो यदि छोटा घाटा है तो आप उसे कवर कर सकते है। यदि आप का घाटा ज्यादा हो रहा है तो उसे कवर करना बहुत ही ज्यादा मुश्किल हो जाता है। खासतौर पर जब आप इतना सारा इन्वेस्टमेंट कर चुके हो, उसके बाद। LED lights के व्यापार में सबसे बड़ा खतरा या रिस्क व्यवसाय में नुकसान होने का होता है।

इसीलिए यदि आप एलईडी लाइट्स के व्यापार की शुरुआत कर रहे हैं तो हर छोटी से छोटी चीज को भी ध्यान में रखे और हर छोटी से छोटी सावधानी पर भी गौर करें। ताकि आप इस व्यवसाय में होने वाले घाटे से बच पाए।

FAQ

एलईडी लाइट के व्यवसाय के लिए किन-किन मशीनरी की आवश्यकता पड़ सकती है?

एलईडी लाइट के व्यवसाय को शुरू करने के लिए आपको जिन इक्विपमेंट्स की सहायता लगेगी वह है: कॉम्पोनेंट फ्रेमिंग, सोल्डरिंग मशीन, डिजिटल मल्टीमीटर, टेस्टर, सीलिंग मशीन, एलसीआर मीटर, मोल्डिंग मशीन, लक्स मीटर इत्यादि।

यदि एकदम छोटे स्तर से लेडी लाइट के व्यवसाय की शुरुआत की जाए तो लागत कितनी होगी?

यदि आप छोटे स्तर से एलईडी लाइट के व्यवसाय की शुरुआत कर रहे हैं तो आपको कम से कम दो से तीन लाख रुपयों की जरूरत पड़ेगी। परंतु यदि आपके पास खुद की जमीन या खुद की दुकान नहीं है तो लागत में बढ़ोतरी हो सकती है।

यदि हमारी दुकान अच्छे से चलने लग जाए तो कमाई कितने रुपए तक की हो सकती है?

यदि आप की एलईडी लाइट की दुकान अच्छे से चलने लग जाए तो आप को कम से कम 20,000 से 3 लाख रुपयों की कमाई एक महीने के अंदर हो सकती है।

LED बल्ब में और CFL बल्ब में क्या अंतर होता है?

LED बल्ब, CFL बल्ब की तुलना में कम बिजली का उपयोग करते हैं, LED bulb का आकार CFL बल्ब आकार के मुकाबले छोटा होता है, LED बल्ब की कीमत ज्यादा होती है इत्यादि अंतर LED bulb और CFL बल्ब में होते है।

निष्कर्ष

यदि आप एलईडी लाइट के व्यवसाय की शुरुआत घर से करते हैं या छोटे स्तर से करते हैं तो आपको इसके लिए लोन लेने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। लेकिन अगर आप एलईडी लाइट के बिजनेस का बड़े स्तर में प्रारंभ कर रहे हैं तो आपको बैंक से लोन लेने की जरूरत पड़ सकती है, जिसके लिए भारत सरकार ने मुद्रा लोन देना लागू कर दिया है। इस लोन को पाने के लिए आपको आपके होने वाले खर्चों की सूची के साथ एक आवेदन सबमिट करना होता है। फिर यदि आपका आवेदन अप्रूव हो जाए तो आपको लोन मिल जाता है।

इस आर्टिकल में हमने आपको एलईडी लाइट्स के व्यवसाय (LED Bulb Making Business in Hindi) की शुरुआत करने के लिए सभी बेसिक जानकारियों को विस्तार से बताया है। इसको पढ़कर आप आसानी से एलईडी लाइट्स के व्यवसाय की शुरुआत कर पाएंगे।

यह भी पढ़े

साबुन बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

बेकरी बिजनेस कैसे शुरू करें?

कॉपी बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

बिना पैसे लगाए बिजनेस कैसे शुरू करें?

नवीनतम बिजनेस आइडिया और पैसा कमाने के तरीके जानने के लिए हमारे वाट्सऐप पर जुड़ें Join Now
नवीनतम बिजनेस आइडिया और पैसा कमाने के तरीके जानने के लिए हमारे टेलीग्राम पर जुड़ें Join Now

Leave a Comment