रियल एस्टेट बिजनेस कैसे शुरू करें? (प्रकिया, निवेश और मुनाफा)

Real Estate Business in Hindi: आप सब तो जानते ही हैं कि आज के समय में बेरोजगारी कितनी ज्यादा बढ़ गई है। आज के समय में पढ़े लिखे होने के बावजूद भी लोगों को उनके पसंद के अनुसार एक अच्छी नौकरी नहीं मिल पाती।

जिसके कारण वे अलग-अलग तरह के बिजनेस को करने के बारे में सोचते हैं क्योंकि बिजनेस करना किसी भी प्रकार के जॉब करने से बेहतर होता है। आज के समय में ऐसे बहुत सारे बिजनेस हैं, जिन्हें माध्यम से लोग अपना बेहतर जिंदगी गुजार सकते हैं। इन्हीं बिजनेस में से एक है रियल एस्टेट बिजनेस।

Real Estate Business in Hindi
Image: Real Estate Business in Hindi

आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के अंतर्गत रियल एस्टेट बिजनेस के बारे में संपूर्ण जानकारी देने का प्रयास करेंगे। यह एक ऐसा बिजनेस है, जिसमें काफी अच्छा मुनाफा होने के चांसेस होते हैं।

यदि आप रियल एस्टेट बिजनेस के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल के अंत तक जरूर बने रहें। तो चलिए बिना समय गवाएं इस विषय के बारे में विस्तार से जानते हैं।

रियल एस्टेट बिजनेस कैसे शुरू करें? | Real Estate Business in Hindi

Table of Contents

रियल एस्टेट बिजनेस क्या होता है?

रियल एस्टेट बिजनेस क्या होता है इसे हम आसान भाषा में समझते हैं। यदि आपको घर खरीदना होता है तो आप किसी दलाल से बात करते हैं, जो आपको अलग-अलग जगहों पर तरह-तरह के घर के बारे में बताता है और उनके कीमत के बारे में भी बताता है।

हम उसे भले ही ब्रोकर बोलते हैं, लेकिन उसका काम रियल एस्टेट से ही जुड़ा हुआ है और केवल वही रियल एस्टेट का काम नहीं कर रहा है बल्कि जो व्यक्ति अपने प्रॉपर्टी को बेच रहा है, वह भी रियल एस्टेट का काम कर रहा है। इस तरह समझ सकते हैं कि रियल एस्टेट का बिजनेस का अर्थ होता है प्रॉपर्टी का लेनदेन करना।

प्रॉपर्टी को सस्ते दाम पर खरीद कर महंगे दाम पर बेचना या फिर खुद बिल्डिंग का निर्माण करके उसे बेचना या फिर किराए पर लगाना या किसी के प्रॉपर्टी बिकवाने में मदद करना यह सभी काम रियल एस्टेट के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं।

रियल एस्टेट का बिजनेस भारत में बहुत तेजी से बढ़ रहा है। अब ऐसा नहीं है कि यह बिजनेस केवल भारत में ही लोकप्रिय है बल्कि यह दुनिया के हर देशों में चल रहा है और लोग इससे बहुत अच्छी कमाई कर रहे हैं।

रियल एस्टेट बिजनेस कैसे शुरू करें? (Real Estate Business Kaise Kare)

आप सब तो जानते ही हैं कि किसी भी बिजनेस की शुरुआत करने से पहले उससे रिलेटेड सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर लेना अति आवश्यक होता है। बिजनेस को शुरू करने से पहले उससे जुड़ी हुई मार्केट की समझ, ज्ञान, सूज बूज व समझदारी इत्यादि चीजों के बारे में जाने के बाद ही किसी भी बिजनेस की शुरुआत करनी चाहिए।

ठीक इसी तरह रियल एस्टेट बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है, जिसके बारे में संपूर्ण ज्ञान लिए बिना इस बिजनेस में उतारना पैसे को सही जगह ना लगाने जैसा होता है। क्योंकि इस बिजनेस के अंतर्गत जमीन खरीदने से लेकर कंस्ट्रक्शन और कानूनी कार्यवाही तक होते हैं।

इसलिए इस बिजनेस को शुरू करने से पहले सभी सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए अपनी टीम बनाकर पूरे ज्ञान व समझदारी के साथ अपने कस्टमर को सेटिस्फाई करके संपत्ति बेचकर मुनाफा कमाया जा सकता है।

रियल एस्टेट बिजनेस के लिए मार्केट रिसर्च

किसी भी तरह के बिजनेस को शुरू करने से पहले उससे जुड़ी हुई मार्केट रिसर्च करना बहुत ही जरूरी होता है। क्योंकि जब तक आपको अपने द्वारा किए जाने वाले बिजनेस के बारे में ज्ञान व जानकारी प्राप्त नहीं होगी तब तक आप अपने बिजनेस को सफल नहीं बना सकते।

मार्केट रिसर्च का मतलब यह है कि आप अपने बिजनेस को किस तरह से चला सकते हैं?, आप अपने बिजनेस के अंतर्गत लोगों को कैसे-कैसे फैसिलिटी और ऑफर प्रदान करेंगे? इत्यादि चीजों के बारे में जानना बहुत ही जरूरी होता है।

क्योंकि एक अकेले आप ही  रियल एस्टेट के बिजनेस को नहीं कर रहे होते हैं। बल्कि बहुत से ऐसे लोग हैं जो कि रियल एस्टेट के बिजनेस को करते हैं और अपने बिजनेस को सफल बनाने के लिए अलग-अलग तरह के तरीकों का इस्तेमाल करते हैं।

इसीलिए आपको रियल एस्टेट के बिजनेस को स्टार्ट करने से पहले मार्केट रिसर्च करना बहुत ही जरूरी होता है। इसके साथ ही साथ आपको इसके अंतर्गत लगने वाले इन्वेस्टमेंट जैसी सारी चीजों के बारे में जानना भी बहुत जरूरी होता है।

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए तजुर्बे का भी जरूरत पड़ता है। क्योंकि तजुर्बा किसी भी बिजनेस को सफल बनाने में महत्वपूर्ण योगदान देता है।

रियल एस्टेट बिजनेस में कमाई करने के तरीके

यदि आपको लग रहा है कि रियल एस्टेट में जमीन को खरीदना और फिर उसे बेचने का काम होता है तो बता दे कि आप सही है। लेकिन, रियल एस्टेट में आज के समय में पैसे कमाने के कई सारे तरीकों ने जन्म ले लिया है।

रियल एस्टेट में आप इन्वेस्टमेंट कर के भी पैसे कमाते हैं और बिना इन्वेस्टमेंट किए भी पैसे कमा सकते हैं। रियल एस्टेट में आप किन-किन तरीकों से पैसे कमा सकते हैं, उसके बारे में हमने यहां नीचे बताया है।

प्रॉपर्टी फ्लिपिंग

रियल एस्टेट बिजनेस में लोग प्रॉपर्टी फ्लिपिंग करके भी काफी ज्यादा कमाई कर लेते हैं। हालांकि इसमें भी आपको निवेश की जरूरत पड़ती है लेकिन इसमें यह फायदा होता है कि आपको प्रॉपर्टी बहुत सस्ते दाम में मिल जाता है।

वह इसलिए क्योंकि इसमें आप किसी पुराने घर या बिल्डिंग को खरीदते हैं। उसके बाद उस पुराने घर या बिल्डिंग को रिनोवेट करवाकर उसे ऊंचे दाम पर बेचते हैं। इसमें आप जितने में प्रॉपर्टी खरीदे होंगे, उसके आधे से भी ज्यादा फायदे पर प्रॉपर्टी को बेच सकते हैं।

मकान मालिक बनकर करें कमाई

रियल एस्टेट के क्षेत्र में जरूरी नहीं कि आप इन्वेस्टमेंट करके प्रॉपर्टी को खरीदे और बेचे। आप चाहे तो प्रॉपर्टी को खरीद कर अपने पास ही रख सकते हैं और इसे किराए पर देकर अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। आजकल हर कोई अपने गांव से दूर शहर अच्छी जॉब की तलाश में जाता है और शुरुआत में कोई भी व्यक्ति तुरंत शहरों में घर तो खरीद नहीं सकता।

क्योंकि शहरों में प्रॉपर्टी काफी ज्यादा महंगी होती है। इन लोगों की जरूरतों को समझते हुए आप अच्छे शहर में एक बार इन्वेस्टमेंट करके मकान ले सकते हैं और उसे किराए पर लगा सकते हैं।

बड़े-बड़े शहरों में घरों का किराया भी काफी ज्यादा आता है और शहरों में तो काफी ज्यादा लोग मकान किराए पर लगाकर पैसे कमाते हैं। हालांकि शहरों में घरों की कीमत बहुत ज्यादा होती हैं लेकिन एक बार इन्वेस्टमेंट लगाने के बाद आप इसमें हमेशा पैसे कमा सकते हैं।

रियल एस्टेट फोटोग्राफर बनकर कमाई

रियल एस्टेट में रियल एस्टेट फोटोग्राफी करके भी पैसे कमाने का एक बेहतरीन तरीका है। पहले यह बिजनेस आइडिया ज्यादा ट्रेंड में नहीं था लेकिन जब से सोशल मीडिया का समय आया है और लोगों ने इंटरनेट का उपयोग पूरी तरीके से करना शुरू कर दिया है तभी से यह नया बिजनेस आइडिया का जन्म हो गया।

आज के समय में किसी को घर, फ्लैट, मकान, दुकान कुछ भी खरीदना होता है तो सबसे पहले वह इंटरनेट पर उसके बारे में सर्च करता है। यदि उस जगह की साइट उसे पसंद आती है तब वह वास्तविक रूप से उसे देखने के लिए राजी हो जाता है।

यही कारण है कि जब भी कोई घर, फ्लैट, मकान या दुकान किसी को बेचना होता है तो वह किसी प्रोफेशनल फोटोग्राफर को बुलाता है ताकि वह उसके प्रॉपर्टी की अच्छी तस्वीरे खींच सके और ग्राहक इन तस्वीरों को देखकर प्रॉपर्टी को लेने में रूचि दिखाएं। इसतरह आजकल बहुत से लोग रियल एस्टेट में रियल एस्टेट फोटोग्राफी से पैसे कमा रहे हैं।

रियल एस्टेट इन्वेस्टर व्यवसाय

रियल एस्टेट में इन्वेस्टर यदि आप बनते हैं तो इससे भी काफी ज्यादा आपको फायदा मिलता है। इसमें आपको सस्ते दाम पर किसी भी प्रॉपर्टी को खरीदना होता है। चूंकि हर साल प्रॉपर्टी का दाम बढ़ते ही जाता है तो आगे चलकर इस प्रॉपर्टी को काफी अच्छे दाम पर आप बेच सकते हैं।

कोशिश करें प्रॉपर्टी को लेने के बाद 4 से 5 साल के बाद ही प्रॉपर्टी को बेंचे ताकि आप जितने दाम में प्रॉपर्टी लिए होते हैं, उसका कम से कम 50% फायदे पर आप प्रॉपर्टी बेच सकें। अब इस व्यवसाय में आपको यह भी ध्यान रखना काफी जरूरी होता है कि आप जिस भी तरह का प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं, वह कानूनी रूप से पूरी तरीके से सही हो, कागज कार्रवाई होने में किसी प्रकार का दिक्कत ना हो।

इस व्यवसाय में आपको एक चीज की समस्या रहेगी कि इसमें आपको काफी ज्यादा निवेश की जरूरत पड़ती है। क्योंकि इसमें आप प्रॉपर्टी को खरीदते हैं और जैसे आप जानते हैं कि आज के समय में प्रॉपर्टी का दाम आसमान छू रहा है।

वैसे आप ज्यादा से ज्यादा नेटवर्क बनाने की कोशिश कर सकते हैं ताकि आपको उन लोगों की जानकारी जल्द से जल्द मिल सके, जो किसी मजबूरन बस अपने प्रॉपर्टी को बेच रहे हैं। क्योंकि ऐसे हालात में आपको प्रॉपर्टी सस्ते दाम में मिल जाते हैं।

रियल एस्टेट कांट्रेक्टर बिजनेस

भारत में रियल एस्टेट कांट्रेक्टर बिजनेस कि भारत के जीडीपी में लगभग 13% की भूमिका है और काफी तेजी से यह बढ़ भी रहा है। यदि आप रियल एस्टेट कांट्रेक्टर का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आपको एक लाइसेंस की जरूरत पड़ेगी ताकि आगे चलकर आपके ऊपर किसी भी प्रकार का कानूनी कार्यवाही ना हो।

इस बिजनेस में भी आपको निवेश की काफी जरूरत पड़ती है। इसमें आप किसी भी अन्य व्यक्ति से प्रॉपर्टी खरीद कर नहीं भेजते बल्कि आप खुद ही प्रॉपर्टी का निर्माण करते हैं।

मतलब जहां पर आप रियल एस्टेट इन्वेस्टर व्यवसाय में किसी भी बिल्डिंग को खरीद कर उसे बेचने का काम करते हैं तो वहीं इस व्यवसाय में आप केवल जमीन खरीद सकते हैं और वहां पर बिल्डिंग तैयार कर सकते हैं और उसे बेच सकते हैं। लेकिन इन सब चीजों में लागत बहुत ज्यादा लगती हैं। इसीलिए इसे आप पार्टनरशिप में भी कर सकते हैं।

रियल एस्टेट एजेंट

यदि आप शून्य निवेश के साथ रियल एस्टेट के बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं तो आप रियल एस्टेट एजेंट बनकर पैसे कमा सकते हैं, इसे प्रॉपर्टी डीलर भी कहा जाता है। इसमें आपको एक भी रुपए निवेश नहीं करना पड़ता है। इसमें आप प्रॉपर्टी बेचकर कमीशन कमाते हैं। इसमें आपको ऐसे लोगों की तलाश करनी होती है, जो अपने प्रॉपर्टी को बेचना चाहते हैं।

उसके बाद आप उनसे कमीशन तय कर सकते हैं कि आप उनके प्रॉपर्टी को बिकवाने के बदले में कितना पैसा उसे आपको देना पड़ेगा। उसके बाद आपको ग्राहकों को ढूंढने की जरूरत पड़ेगी। आपको ऐसे लोगों की तलाश करनी पड़ेगी, जो प्रॉपर्टी खरीदने के लिए इच्छुक है। ऐसे लोगों से संपर्क बनाकर आप जिस प्रॉपर्टी को भी कमाना चाहते हैं, उसके बारे में आपको जानकारी दे सकते हैं।

इस व्यवसाय में आपको लोगों को समझाने की कला आनी चाहिए ताकि आप ज्यादा से ज्यादा प्रॉपर्टी बिकवा सके और अच्छा खासा कमीशन कमा सके। रियल एस्टेट एजेंट में आपका कमीशन प्रॉपर्टी के मालिक द्वारा प्रॉपर्टी की तय की गई कीमत और आपके द्वारा कस्टमर को प्रॉपर्टी की जो कीमत बताई गई होती है, उसके अंतर के बराबर होता है।

मतलब इसमें प्रॉपर्टी का मालिक जितने कीमत पर प्रॉपर्टी को बेचना चाहते हैं, उसमें कमीशन को जोड़कर कीमत को बढ़ाकर ग्राहक को प्रॉपर्टी बेची जाती है। लेकिन रियल एस्टेट एजेंट के लिए आपको सबसे पहले रजिस्ट्रेशन करवाना होता है।

प्रॉपर्टी मैनेज करने के काम से कमाई

रियल एस्टेट में कमाने के कई सारे विकल्प हैं, उन्हीं में से एक प्रॉपर्टी मैनेजर का भी काम है। बहुत से ऐसे व्यक्ति और रियल एस्टेट कंपनियां हैं, जो अपने प्रॉपर्टी का मेंटेनेंस करने के लिए, उसके देखभाल करने के लिए और किराया वसूल करने के लिए प्रॉपर्टी मैनेजर को नियुक्त करते हैं। शहरों में इस तरह की कमाई करने के बहुत ज्यादा स्त्रोत रहते हैं।

यह भी पढ़े: 101+ कम पूँजी में अधिक मुनाफा देने वाले बिजनेस आइडियाज

रियल एस्टेट बिजनेस में कच्चे माल की कीमत और कहां से खरीदें?

रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत कंस्ट्रक्शन के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले कच्चे माल होते हैं सीमेंट, गिट्टी, ईट, रेत, छड़ इत्यादि। आप तो जानते ही हैं कि किसी भी बिल्डिंग को बनाने के लिए इन सभी चीजों का उपयोग किया जाता है।

इसके साथ ही साथ कंस्ट्रक्शन का काम हो जाने के बाद बिल्डिंग या फ्लैट को सजाने का काम किया जाता है, जिसमें कुछ अच्छे क्वालिटी के पेंट, फॉर सीलिंग, पुट्टी, लाइट, बल्ब इत्यादि चीजों का इस्तेमाल किया जाता है। ताकि कंस्ट्रक्ट किया हुआ बिल्डिंग या फ्लैट सुंदर व आकर्षित दिखे ताकि इसका रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत अच्छी कीमत मिल सके।

रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत इस्तेमाल किए जाने वाले इन कच्चे मालों का कीमत कम से कम पांच लाख रुपए तक हो सकता हैं और यदि आप अच्छे और सबसे बेहतर क्वालिटी के प्रोडक्ट्स यूज कर रहे हैं तो आपको 5 लाख रुपए से अधिक का भी लागत लग सकता है। यह आपके द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले कच्चे माल की क्वालिटी पर निर्भर होता है।

आप इन सभी कच्चे मालों को किसी भी मार्केट में जाकर आसानी से खरीद सकते हैं। आज के समय में लगभग हर मार्केट में यह सब सामान मिल जाते हैं। आप के दौरान की गई मार्केट रिसर्च के अंतर्गत आप एक अच्छे मार्केट की तलाश कर सकते हैं, जहां से आपको बेहतर और अच्छी क्वालिटी के कच्चे माल प्रदान किए जाएंगे।

वकील हायर करें

रियल एस्टेट बिजनेस में आपको प्रॉपर्टी खरीदने और बेचने का व्यवसाय होता है, जिसमें आपको काफी कागजी कार्यवाही से गुजारनी पड़ती है। बार-बार कोर्ट के चक्कर लगाने पड़ते हैं। इसलिए आपको इस बिज़नेस में शुरुआत से ही एक वकील के साथ संपर्क बना कर रखना पड़ेगा।

क्योंकि यदि आपके साथ शुरुआत से एक वकील रहेंगे तो फिर आपका आधे से ज्यादा सिर दर्द इस व्यवसाय में खत्म हो जाएगा। आप चाहे तो किसी वकील को अपने बिजनेस का पार्टनर भी बना सकते हैं। ऐसे में आपको कानूनी कामों पर ज्यादा ध्यान नहीं देना पड़ेगा बस आप दूसरी और अपने इस बिजनेस को ज्यादा ग्रो करने पर ध्यान दे पाएंगे।

स्पर्धियो पर नज़र रखे

आज के समय में ऐसा कोई भी व्यवसाय नहीं है, जिसमें प्रतियोगिता ना हो। रियल एस्टेट बिजनेस में भी काफी ज्यादा कॉन्पिटिशन होता है। बड़े-बड़े शहरों में एक ही क्षेत्र में आपको बहुत से रियल एस्टेट बिजनेस करने वाले मिल जाएंगे।

ऐसे में अपने बिजनेस को अन्य लोगों से ज्यादा बेहतर बनाने के लिए आपको यह जानकारी लेना बेहद ही जरूरी है कि आपके कंप्टीटर के सर्विस में क्या अंतर है।

इसके लिए आप 1 दिन के लिए कस्टमर बनकर अन्य रियल एस्टेट बिजनेस करने वाले के पास जा सकते हैं और उनके बिजनेस की सभी जानकारी और उनकी सर्विस के बारे में आप जान सकते हैं, जिससे आपको भी जानकारी मिल जाएगा कि आपको किस तरीके से ग्राहकों को सर्विस देना है ताकि आपका यह बिजनेस अन्य लोगों की तुलना में बेहतर चले।

रियल एस्टेट बिजनेस का मार्केटिंग प्रोसेस

सभी बिजनेस का अपना अलग-अलग मार्केटिंग प्रोसेस होता है। ठीक इसी  तरह रियल एस्टेट बिजनेस का भी अपना ही एक अलग मार्केटिंग प्रोसेस होता है। मार्केटिंग प्रोसेस यानी कि आप अपने बिजनेस को किस तरह से चला रहे हैं।

कहने का मतलब यह है कि आपके द्वारा किए जाने वाले बिजनेस को आप किस तरह से लोगों के सामने प्रदर्शित कर रहे हैं और किस तरह से आप अपने बिजनेस को सफल बनाने की कोशिश कर रहे हैं। अपने बिजनेस को सफल बनाने के लिए इन सभी बातों को ध्यान में रखना अति आवश्यक होता है।

रियल एस्टेट बिजनेस के लिए लोकेशन

बिजनेस की सफलता और असफलता इसी लोकेशन पर निर्भर होती है। ठीक इसी तरह रियल एस्टेट बिजनेस को करने का भी एक लोकेशन निश्चित होता है। आप अपने इस बिजनेस के लिए बहुत सारे अच्छे-अच्छे बाजारों की तलाश कर सकते हैं। इसके साथ ही साथ आप अलग-अलग शहरों या राज्यों के अंतर्गत अपने अचल संपत्ति के बारे में शोध करके वहां अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत अलग-अलग भागों पर प्रशिक्षण और सेमिनार तय किए जाते हैं, जिनमें भाग लेने से आपको विभिन्न स्थानों पर मौजूद संपत्तियों के बारे में जानकारी प्राप्त हो सकती है।

आप इसी सेमिनार के अंतर्गत किसी एक संपत्ति विशेषज्ञ से सलाह ले सकते हैं, जिन्हें रियल एस्टेट बिजनेस के बारे में काफी जानकारी प्राप्त हो। आप उस हिसाब से भी अपने बिजनेस के लिए बेहतर लोकेशन को तय कर सकते हैं।

रियल एस्टेट बिजनेस के लिए लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन

रियल एस्टेट बिजनेस की शुरुआत करने से पहले आपको यह तय करना होगा कि आप इस बिजनेस को व्यक्तिगत तरीके से करना चाहते हैं या फिर किसी कंपनी या पार्टनरशिप के माध्यम से शुरू करना चाहते हैं।

क्योंकि यदि आप इस बिजनेस की शुरुआत व्यक्तिगत तरीके के साथ-साथ कंपनी या पार्टनरशिप में करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अथॉरिटी के द्वारा रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।

न्यू रियल इस्टेट एक्ट के लागू होने के बाद रियल एस्टेट बिजनेस की शुरुआत करने से पहले आप जिस जगह पर अपनी बिजनेस की शुरुआत करना चाहते हैं, उस राज्य के अंतर्गत आपको रेरा के तहत पंजीकरण करवाने की आवश्यकता होगी। यह एक तरह का कंसल्टेशन फॉर्म होता है।

आप इस फॉर्म की मदद से रियल एस्टेट बिजनेस का पंजीकरण बड़ी आसानी के साथ कर सकते हैं। एक अच्छी कंसल्टेशन फॉर्म की मदद से आप का पंजीकरण एक या 2 दिन के अंतर्गत बड़ी आसानी के साथ हो जाएगा। रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद आपको एक रेरा नंबर प्राप्त होगा और यह रेरा नंबर भविष्य में आप के किसी भी लेनदेन के कार्य के लिए जरूरी होता है।

रियल एस्टेट बिजनेस के लिए स्टाफ

जैसा कि आप सब जानते ही हैं कि किसी भी प्रकार के बिजनेस को करने के लिए एक स्टाफ की जरूरत होती है, जो कि बिजनेस को संभालने का काम करता है। ठीक इसी तरह रियल एस्टेट बिजनेस में भी स्टाफ की जरूरत पड़ती है।

रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत कंस्ट्रक्शन का काम करने के लिए एक बहुत ही बड़े स्टाफ की जरूरत पड़ती है, जो कि बिल्डिंग या फ्लैट इत्यादि चीजों को बनाने में मदद करते हैं।

इसके बाद रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत पेंटर, फॉर सीलिंग, फर्नीचर, डेकोरेशन इत्यादि चीजों के लिए भी एक कुशल टॉप की जरूरत पड़ती है, जो कि तैयार किए गए बिल्डिंग या फ्लाइट को आकर्षित व सुंदर बनाने में मदद करते हैं।

इसके साथ ही साथ आप अपने बिजनेस को संभालने के लिए एक मैनेजर भी रख सकते हैं, जो कि स्टाफ के द्वारा किए जाने वाले काम पर निगरानी रखें। कुल मिलाकर आपको अपने रियल एस्टेट बिजनेस को सफल बनाने के लिए एक कुशल स्टाफ की जरूरत पड़ेगी।

वेबसाइट का निर्माण करें

यह तो आप अच्छी तरीके से जानते होंगे कि आज का समय काफी ज्यादा एडवांस हो गया है। आज ज्यादातर लोग कोई भी चीज खरीदने से पहले इंटरनेट पर उसकी जांच पड़ताल करते हैं और सुरक्षा की दृष्टि से यह जरूरी भी है।

रियल एस्टेट बिजनेस में भी आप खुद की एक वेबसाइट बना सकते हैं ताकि कोई भी कस्टमर आपके बिजनेस के बारे में आपकी वेबसाइट से जान सके। इससे लोगों को ज्यादा विश्वास होता है।

रियल एस्टेट बिजनेस के लिए लागत

किसी भी प्रकार के बिजनेस की शुरुआत करने के लिए इन्वेस्टमेंट तो करना ही पड़ता है। ठीक इसी तरह रियल एस्टेट बिजनेस की शुरुआत करने के लिए भी इन्वेस्टमेंट करने की जरूरत पड़ती है।

किसी भी रियल एस्टेट बिजनेस को करने के लिए सबसे पहले एक जमीन खरीदने की आवश्यकता होती है, उसके बाद उससे जुड़े हुए कुछ काम करवाना होता है व उसकी मेंटेनेंस, कंस्ट्रक्शन इत्यादि चीजों को लेकर लाखों रुपए तक का लागत लगता है। तो चलिए जानते हैं कि कुल मिलाकर रियल एस्टेट बिजनेस की शुरुआत करने के लिए कितना लागत लग सकता है:

  • रियल एस्टेट बिजनेस के लिए सबसे पहले जमीन की आवश्यकता होती है, जिसकी कीमत कम से कम ₹5 लाख रुपए तक की हो सकती है।
  • उसके बाद कंस्ट्रक्शन के काम के लिए 20 लाख रुपए से 50 लाख रुपए या फिर करोड़ में भी लागत बिजनेस के अनुसार लगाई जा सकती है।
  • उसके बाद बिजनेस की मार्केटिंग करने के लिए कम से कम एक लाख रुपए तक की लागत लग सकती है।
  • उसके बाद आप अपने स्टाफ की सैलरी ₹10000 से ₹20000 तक रख सकते हैं।

तो कुल मिलाकर रियल एस्टेट बिजनेस की शुरुआत करने के लिए लाखों रुपए से करोड़ों रुपए तक लग सकते हैं। यह पूरी तरीके से बिजनेस पर निर्भर करता है। रियल एस्टेट का छोटा बिजनेस करने के लिए कम से कम लाखो तक लग सकता हैं और यदि आप बड़ा बिजनेस करना चाहते हैं तो यह लागत करोड़ तक भी जा सकता है।

अब जिस हिसाब से अपने इस बिजनेस के अंतर्गत इन्वेस्टमेंट करेंगे, उसी हिसाब से आप सही ग्राहक को चुनकर मुनाफा कमा सकते हैं।

यह भी पढ़े: 10+ बेहतरीन कमीशन बेस्ड बिजनेस आइडियाज

रियल एस्टेट बिजनेस में फायदा

ऐसा कोई भी बिजनेस नहीं है, जिसके अंतर्गत फायदा ना हो। बस आपको अपने बिजनेस को सफल बनाने के लिए सूझबूझ, समझदारी व ज्ञान की जरूरत होती है। यदि आप अपने बिजनेस को अच्छे तरीके से चला रहे हैं तो यह जरूरी है कि आप के बिजनेस में फायदा ही हो।

ठीक इसी तरह रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत भी बहुत ज्यादा फायदा होता है। बस इसके लिए आपको कुछ इन्वेस्टमेंट करने की जरूरत होती है। उसके बाद यदि आप अपने इस बिजनेस को सूझबूझ, समझदारी, तजुर्बे व ज्ञान के साथ चला रहे हैं तो 100% आपका बिजनेस सफल होगा।

इसके साथ ही साथ आपके बिजनेस की प्रॉफिट आपके द्वारा रखे गए स्टाफ पर भी निर्भर करता है। क्योंकि स्टाफ के द्वारा ही आपके बिजनेस के अंतर्गत काम किया जाएगा, जो कि ग्राहकों को पसंद आना चाहिए। यदि आपके द्वारा किए गए काम ग्राहकों को पसंद आते हैं तो आपका बिजनेस काफी अच्छा चल सकता है और आपको इससे काफी ज्यादा प्रॉफिट भी हो सकता है।

रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत मुनाफा हमेशा बिजनेस की साइज के अनुसार होता है। यदि आप का रियल एस्टेट का बिजनेस छोटा है तो आपको उसमें कम मुनाफा होगा और यदि आप का रियल एस्टेट का बिजनेस काफी ज्यादा बढ़ा है तो आपको इससे काफी ज्यादा प्रॉफिट भी हो सकता है। रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत मुनाफा लाखों से करोड़ों तक का हो सकता है।

रियल एस्टेट बिजनेस की मार्केटिंग

किसी भी बिजनेस को सफल करने के लिए उसका मार्केटिंग करना बहुत ही जरूरी होता है। क्योंकि जब तक लोगों को आपके बिजनेस के बारे में पता नहीं चलेगा तब तक आपका बिजनेस सफल नहीं हो सकता।

ठीक इसी तरह रियल एस्टेट बिजनेस को भी सफल बनाने के लिए उसका मार्केटिंग करना बहुत ही जरूरी होता है। आप सब तो जानते ही हैं कि आज का समय पूरी तरीके से आधुनिक व डिजिटल हो गया है तो आप अपने बिजनेस की मार्केटिंग करने के लिए इसी डिजिटल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आज के समय में ऐसे बहुत सारे सोशल मीडिया एप मौजूद हैं, जिनकी मदद से आप अपने बिजनेस की मार्केटिंग कर सकते हैं। आप अपने बिजनेस का एडवरटाइजमेंट, पोस्टर, बैनर इत्यादि के मदद से भी मार्केटिंग कर सकते हैं।

रियल एस्टेट बिजनेस में इन बातों का ध्यान रखें

कोई शक नहीं है कि रियल एस्टेट बिजनेस में काफी ज्यादा कमाई है लेकिन इस बिजनेस में ज्यादा कमाई करने के लिए आपको कुछ सावधानी भी रखने की जरूरत है। पूरी जानकारी और पूरी तैयारी के साथ इस बिजनेस को शुरू करें।

  • रियल एस्टेट के बिजनेस में बहुत सी ऐसी गलतियां है, जिससे आपको काफी नुकसान भुगतना पड़ सकता है। इसीलिए इन बातों को ध्यान में रखना काफी जरूरी है।
  • जब भी आप किसी भी प्रॉपर्टी को खरीद रहे हैं तो उसके पूरी लागत के बारे में जरूर जाने। क्योंकि किसी भी प्रॉपर्टी की जितनी कीमत होती है, उसके बाद भी काफी खर्चा लगता है जैसे कि जीएसटी, रजिस्ट्रेशन, ब्रोकरेज, फर्निशिंग, स्‍टैंप ड्यूटी आदि। इसलिए इन सभी चिजो के बारे में आपको जानकारी होनी चाहिए।
  • जब भी आप कहीं भी प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं तो सीधे जाकर प्रॉपर्टी ना खरीद लें। उसके आसपास अन्य प्रॉपर्टी की कीमत का भी विश्लेषण करें। ऐसा करने से आपको उस प्रॉपर्टी की पूरी जानकारी मिल जाएगी और साथ ही आपको प्रॉपर्टी उचित कीमत पर मिल रहा है या नहीं यह भी पता चल जाएगा।
  • आप जमीन किसी प्रॉपर्टी को खरीद रहे हैं तो वह प्रॉपर्टी कानूनी रूप से लीडर हैं या नहीं इस बात की जांच जरूर करें। यह जरुर देखें कि कहीं प्रॉपर्टी किसी तरह के मुकदमे में तो नहीं फंसा हुआ है।
  • प्रॉपर्टी का जॉन की भी जानकारी लें और आप जिस जगह पर प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं, उसके लिए आपको लोन मिलेगा कि नहीं उसके बारे में भी जानकारी ले ले ताकि यदि निवेश कम हो तो आप प्रॉपर्टी लोन पर ले सकते हैं।
  • इस व्यवसाय में आपको आत्मविश्वास बना कर रखना पड़ेगा और आपको लोगों से बातचीत करने का अच्छा तरीका भी आना चाहिए। क्योंकि इसमें आप अपने प्रॉपर्टी को बेचने में तभी ज्यादा सफल हो पाएंगे जब आप लोगों के विश्वास को जीत पाएंगे, इसलिए आपको लोगों का अच्छे से समझाने की कला आनी चाहिए।

रियल एस्टेट बिजनेस में रिस्क

आज के समय में ऐसा कोई भी बिजनेस नहीं है, जिसके अंतर्गत रिस्क होने के चांसेस ना हो। यदि आप कोई ऐसा बिजनेस कर रहे हैं, जिसके बारे में आपको ज्यादा जानकारी नहीं है तो ऐसे बिजनेस में लॉस के चांसेस अधिक होते हैं। ऐसा बिजनेस कभी भी सफल नहीं हो सकता है।

ठीक इसी तरह रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत भी लॉस होने के चांसेस होते हैं। यदि आप रियल एस्टेट के बिजनेस की शुरुआत कर रहे हैं परंतु आपको इस बिजनेस के बारे में बिल्कुल भी जानकारी प्राप्त नहीं है तो आपको इस बिजनेस के अंतर्गत भारी लॉस का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि बिना तजुर्बे वाले बिजनेस के अंतर्गत हमेशा लॉस ही होता है।

इसीलिए यदि आप अपने बिजनेस को सफल बनाना चाहते हैं तो बिजनेस की शुरुआत करने से पहले उससे जुड़ी हुई सभी प्रकार की जानकारी अवश्य प्राप्त कर लें और बिजनेस की पूरी योजना बनाकर ही इस बिजनेस में उतरे।

वैसे रियल एस्टेट बिजनेस में सबसे बड़ा रिस्क यह होता है कि आप अच्छे तरीके से प्रॉपर्टी को लेने से पहले जांच पड़ताल नहीं करते हैं तो आप बहुत बड़े नुकसान में डूब जाते हैं। बहुत बार कुछ रियल एस्टेट बिजनेसमैन प्रॉपर्टी को खरीदने के लिए कर्जा ले लेते हैं और फिर बाद में पता चलता है कि वह प्रॉपर्टी कानूनी रूप से सही नहीं है और इस तरीके से उनका पैसा डूब जाता है।

दूसरा इस बिजनेस में यह रिस्क है कि बहुत बार इसमें प्रॉपर्टी को हानी पर भी बेचना पड़ता है। इस बिजनेस में काफी कानूनी कार्यवाही होती है, जिसमें काफी ज्यादा खर्चा लगता है। ऐसे में यदि आप इन सब चीजों की जानकारी लेने से पहले ही प्रॉपर्टी खरीद लेते हैं तो बहुत बड़ा नुकसान भी झेलना पड़ता है।

FAQ

रियल एस्टेट बिजनेस क्या होता है?

रियल एस्टेट बिजनेस एक ऐसा बिजनेस होता है, जिसके अंतर्गत जमीन की लेनदेन से लेकर बिल्डिंग या फ्लैट इत्यादि चीजों को बेचने व खरीदने का काम होता है।

रियल एस्टेट बिजनेस की शुरुआत कैसे करें?

रियल एस्टेट बिजनेस की शुरुआत करने के लिए सबसे पहले आपको इससे जुड़ी हुई सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर लेना अति आवश्यक होता है।

क्या रियल एस्टेट बिजनेस को किसी भी जगह पर कर सकते हैं?

हां! रियल एस्टेट बिजनेस को किसी भी जगह पर किया जा सकता है। बस आपको इसके लिए मार्केट की जानकारी रखना होगा और ऐसी जगह का चयन करना होगा, जहां पर सभी प्रकार की सुविधाएं मौजूद हो।

रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत कितने रुपए की लागत लगती है?

रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत लाख रुपए से करोड़ रुपए तक की लागत लग सकती है। यह पूरी तरीके से बिजनेस पर निर्भर होता है।

निष्कर्ष

जैसा कि आप सब जानते ही हैं कि आज के समय में ऐसे बहुत से लोग हैं, जो कि अलग-अलग तरह के बिजनेस करने के बारे में सोचते हैं। इसीलिए रियल एस्टेट बिजनेस इन लोगों के लिए आमदनी का एक काफी अच्छा साधन बन सकता।

रियल एस्टेट बिजनेस के अंतर्गत काफी ज्यादा मुनाफा होने के चांसेस होते हैं। बस इस बिजनेस को करने के लिए सूझभुझ, समझदारी, ज्ञान व तजुर्बे की आवश्यकता होती है।

इस बिजनेस को यदि कोई भी पूरी लगन, इमानदारी व मेहनत के साथ करें तो यह बिजनेस 100% सफल ही हो सकता है। आज के समय में ऐसे बहुत से लोग होते हैं, जिनको रियल एस्टेट बिजनेस के बारे में जानकारी नहीं होती है। इसीलिए आज हमने अपने इस आर्टिकल के माध्यम से रियल एस्टेट बिजनेस से जुड़ी हुई संपूर्ण जानकारी प्रदान करने की कोशिश की है।

आशा है कि आपको हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से रियल एस्टेट क्या है (real estate business hindi), रियल एस्टेट का बिजनेस कैसे करे (Real Estate Business in Hindi) के बारे में काफी ज्यादा जानकारी प्राप्त हुई होगी, जो कि आपके बिजनेस की शुरुआत करने में मददगार साबित हो सकता हैं।

यदि आपको हमारे इस आर्टिकल से किसी भी प्रकार की समस्या हो या आप किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं।

यह भी पढ़े

बारह महीने चलने वाला बिजनेस आइडियाज

किसी कंपनी की एजेंसी कैसे ले?

बेस्ट मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस आइडियाज

बिना पैसे लगाए बिजनेस कैसे शुरू करें?

Leave a Comment